पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Weather Forecast: बिहार में मौसम का मिजाज फिर से बदलने की उम्‍मीद है। राज्‍य में मानसून का असर तो अब बेहद कम हो गया है, लेकिन बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र का असर तीन दिन बाद बिहार में भी दिखाई दे सकता है। इसके चलते राज्य में बारिश हो सकती है। स्थानीय कारणों से पटना सहित प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में शनिवार को बारिश हुई। प्रदेश के लालगंज में 56, पूसा में 44, धरहरा में 31, समस्तीपुर में 30 एवं भागलपुर में 25 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। जून के दूसरे हफ्ते में आगमन के बाद मानसून बिहार में खासा सक्रिय रहा और अच्‍छी बारिश भी कराई, लेकिन पिछले कुछ हफ्तों से औसत से काफी कम बारिश हो रही है। उदाहरण के लिए तीन से नौ सितंबर के बीच गुजरे सप्‍ताह में 56 मीमी की बजाय केवल 16.7 एमएम बारिश ही रिकार्ड की गई, जो औसत से लगभग 70 फीसद कम है। हालांकि अब तक की पूरी मानसून अवधि में करीब 10 फीसद अधिक बारिश हुई है।

राजस्‍थान से उड़ीसा के बीच गुजर रही मानसून की ट्रफ लाइन

अभी प्रदेश में मानसून बेहद कमजोर स्थिति में है। मानसून की ट्रफ लाइन फिलहाल राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं उड़ीसा होते हुए बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। इन इलाकों में अभी अच्‍छी बारिश हो रही है। अगले कुछ दिनों में मानसून की ट्रफ लाइन के और दक्षिण की तरफ शिफ्ट होने की उम्‍मीद है। इसी तरह धीरे-धीरे मानसून खत्‍म भी हो जाएगा।

पटना के मौसम में जारी रहेगा उतार-चढ़ाव

शनिवार को बारिश व तेज धूप की आंख-मिचौली दिनभर जारी रही। दिनभर उमस के बाद शाम को हुई हल्की बारिश ने राजधानीवासियों को राहत दी। पटना में सुबह के वक्‍त भी बारिश हुई थी। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि राजधानी के मौसम में अभी उतार-चढ़ाव जारी रहेगा। प्रदेश में मानसून के सक्रिय होने के बाद ही अच्छी बारिश हो सकती है।