पटना, जेएनएन। बिहार में मानसून अभी बेहद सक्रिय अवस्था में है, मंगलवार तक पूरे राज्य में जगह-जगह बारिश होगी, इसके साथ ही एक-दो स्थानों पर भारी बारिश व ठनका गिरने की भी चेतावनी जारी की गई है।उत्तर-पूर्व बिहार में सुपौल, अररिया, किशनगंज, सहरसा, पूर्णिया और दक्षिण पूर्व बिहार में खगड़िया, मुंगेर, भागलपुर, लखीसराय, जमुई, बांका जिलों में बारिश-वज्रपात की संभावना है।मौसम विभाग ने पूरे राज्य में बारिश और वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार बिहार में जुलाई तक मानसून सक्रिय रहेगा और बारिश रूक-रूककर होती रहेगी। 

चक्रवात के कारण हो रही बारिश 

पूर्वी उत्तर प्रदेश में चक्रवात बनने के कारण बिहार के कई जिलों में तेज बारिश हो रही है। इस तरह की स्थिति सोमवार को भी बने रहने के आसार हैं। रविवार को राजधानी के मौसम में दिनभर बदलाव होता रहा। सुबह अच्छी धूप निकली, कई दिनों के बाद मौसम साफ हुआ। दोपहर हल्की बारिश हुई। हालांकि थोड़ी ही देर बाद आकाश साफ हो गया। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि राजधानी के मौसम में दस जुलाई तक उतार-चढ़ाव जारी रहेगा। 

आज भी प्रदेश के कई इलाकों में होगी भारी बारिश

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी संजय कुमार ने कहा कि वर्तमान में राज्य में दक्षिण-पश्चिम मानसून सक्रिय है। इसके कारण पूरे प्रदेश में झमाझम बारिश हो रही है। राजधानी में पिछले चौबीस घंटे में 72 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। गया में 46.8 मिलीमीटर, भागलपुर में 14.6 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई।

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि सोमवार को मध्य एवं उत्तरी बिहार में अच्छी बारिश के आसार हैं। राजधानी में रविवार को अधिकतम तापमान 34.8 एवं न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। राजधानी की हवा में नमी 91 फीसद रिकॉर्ड की गई। 

राज्य में वज्रपात से लोगों की हो रही है मौत

बता दें कि शनिवार को बिहार में वज्रपात से 25 लोगों की मौत हो गई थी और 17 लोग झुलस गए। मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया गया है।

इससे पहले, राज्य में गुरुवार को 28 और शुक्रवार को बिजली गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई थी। 25 जून को 23 जिलों में बिजली गिरने से 100 से ज्यादा लोगों की जान गई थी।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस