पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Teacher Recruitment: बिहार में प्रारंभिक शिक्षकों की बहाली के लिए पहले चरण हुई गड़बड़ी के बाद शिक्षा विभाग ने दूसरे चरण की काउंसिलिंग में सतर्कता बरतने का निर्देश नियोजन इकाइयों को दिया है। दो, चार और नौ अगस्त को दूसरे चरण की काउंसलिंग की तिथि पहले से निर्धारित है। इसकी तैयारियों को लेकर प्राथमिक शिक्षा निदेशक डा.रणजीत कुमार सिंह ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिला शिक्षा अधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम अधिकारियों के साथ समीक्षा की।

निदेशक ने जिलों के अधिकारियों को आदेश दिया कि दूसरे चरण के साथ ही 400 नियोजन इकाइयों के अभ्यर्थियों की मेधा सूची तैयार होगी, जिनकी काउंसिलिंग और मेधा सूची गड़बड़ी के चलते रद की गई थी। मेधा सूची की जांच होगी और काउंसिलिंग के दौरान नोडल अधिकारी तैनात रहेंगे। 2 अगस्त को नगर निकाय नियोजन इकाई, 4 अगस्त को प्रखंड नियोजन इकाई और 9 अगस्त को पंचायत नियोजन इकाई के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होगी। इससे पहले 27 जुलाई को नियोजन इकाई द्वारा मेधा सूची का सार्वजनीकरण किया जाएगा। यदि नियोजन इकाइयों के स्तर से काउंसिलिंग की तैयारियां मुकम्मल नहीं पायी गईं तो काउंसिलिंग की तिथि बढ़ायी जाएगी। इसका निर्णय शिक्षा विभाग की उच्‍चस्तरीय समीक्षा बैठक में जल्द लिया जाएगा।

प्रमाण पत्रों को पोर्टल पर अपलोड करना अनिवार्य

पहले चरण की जांच रिपोर्ट में यह पाया गया कि काउंसिलिंग के चार-पांच दिन बाद भी चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्रों को पोर्टल पर अपलोड नहीं किया गया। काउंसिलिंग के अगले दिन नियोजन इकाई को सभी प्रमाण पत्रों को जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को सौंपना होगा, ताकि उन प्रमाण पत्रों को विभागीय वेबसाइट पर शीघ्र अपलोड किया जा सके।

नियोजन इकाइयों को हिदायत

*  तय समय से काउंसिलिंग की प्रक्रिया आरंभ करने का निर्देश

* नियोजन समिति के सभी सदस्यों की मौजूदगी जरूरी

* काउंसिलिंग में फोटोयुक्त पहचान पत्र की जांच अनिवार्य

* चयनित अभ्यर्थियों का नाम प्रकाशन जरूरी

* काउंसिलिंग पूरा होने के बाद अभ्यर्थियों की उपस्थिति पंजी को नियोजन इकाई द्वारा सीलबंद किया जाएगा

* पंजी का अवलोकन डीईओ या उनके द्वारा प्राधिकृत पदाधिकारी द्वारा कार्यालय का मोहर पंजी पर लगा दिया जाएगा

Edited By: Shubh Narayan Pathak