आरा, जागरण संवाददाता। बिहार के एक युवक ने कश्‍मीर प‍ुलिस का सिरदर्द बढ़ा दिया है। भोजपुर (आरा) जिले का यह युवक निजी कंपनी में नौकरी करने श्रीनगर गया था। पिछले दिनों श्रीनगर की एक लड़की गायब हो गई तो इस मामले में आरा के युवक का नाम आया। इसके बाद श्रीनगर पुलिस की उसकी तलाश में आरा पहुंच गई। दूसरी, तरफ आरा के ही नवादा थाने की पुलिस ने पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से एक किशोरी को उसके प्रेमी और पांच बच्‍चों के पिता के साथ बरामद कर लिया। यह किशोरी आरा में अपने जीजा के घर से बक्‍सर के युवक के साथ भाग गई थी। मामले में शादी की नीयत से अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद पुलिस दोनों की तलाश में जुटी थी।

यह भी पढ़ें: शादी से पहले 'तू ही हकीकत, ख्वाब तू, दरिया तू...' कहता था और आज यह दिन आ गया, पश्चिम चंपारण की घटना

 कोलकाता में रहकर खटाल चलाता है आरोपित

आरा नवादा थाना पुलिस ने चंदवा इलाके से अपहृत एक किशोरी को बरामद कर लिया। साथ ही आरोपित को भी धर दबोचा। अपहृता की बरामदगी पश्चिम बंगाल के कोलकाता के हुगली, थाना धारकुंडी से संभव हो सकी। पकड़ा गया आरोपित अभिषेक चौधरी बक्सर के तिलकनगर इलाके का निवासी है। पांच बच्चों का पिता है। कोलकाता में रहकर खटाल चलाता था। नाबालिग का बयान 164 के तहत कोर्ट में दर्ज कराया जाएगा। आरोपित को जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें: CM Nitish Kumar के लिए चिराग पासवान के बाद RJD ने भी कह दी बड़ी बात, मुजफ्फरपुर में उठाए कई सवाल

जीजा के घर से हो गई थी गायब

पुलिस के अनुसार शाहपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की एक 14 वर्षीय किशोरी अपने बहनोई के घर चंदवा आई हुई थी। चार अक्टूबर को वह अपने जीजा के घर से दुकान पर सामान लाने के लिए गई हुई थी। इसके बाद से गायब चली आ रही थी। इसे लेकर नवादा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। जिसमें अपहृता के चाचा ने शादी की नीयत से अगवा किए जाने का आरोप अभिषेक चौधरी पर लगाया था। इधर, दारोगा अखिलेश शर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम को कोलकाता भेजा गया था। जिसके बाद अपहृता को बरामद कर लिया गया।

श्रीनगर से अपहृत युवती की बरामदगी को पहुंची जम्मू-कश्मीर  पुलिस

श्रीनगर से अपहृत एक युवती की बरामदगी के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस आरा में छापेमारी कर रही है। टाउन थाना क्षेत्र के चिक टोली इलाके में छापेमारी के दौरान आरोपित युवक एवं अपहृत युवती तो नहीं मिली है। लेकिन, पुलिस ने आरोपित युवक के भाई मो. सोहराब को हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ चल रही है।

मुख्य आरोपित नहीं मिला तो भाई को उठाया

पुलिस सूत्रों के अनुसार श्रीनगर के करलखौर थाना क्षेत्र से एक युवती के गायब होने को लेकर स्वजनों ने 11 नवंबर को प्राथमिकी दर्ज कराई है। जिसके आधार पर श्रीनगर पुलिस को अपहरण का कनेक्शन बिहार के आरा से जुड़े होने की जानकारी मिली। इसके बाद करलखौर थाना के दारोगा शमीम अहमद के नेतृत्व में पांच सदस्यीय पुलिस की टीम आरा पहुंची। इसके बाद टाउन थाना के सहयोग से चिकटोली इलाके में छापेमारी की गई।

मुख्य आरोपित मो. इश्तेयाक के भाई सोहराब को चिकटोली से उठाकर थाने लाया गया। हालांकि, पूछताछ के दौरान सोहराब ने श्रीनगर पुलिस को यह बताया कि उसका भाई अभी तक यहां नहीं है। पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपित युवक इश्तेयाक पंजाब में रहकर किसी प्राइवेट कंपनी में जाब करता था। इसी दौरान युवती को बहला-फुसलाकर यहां लाए जाने की बात सामने आ रही है। अपहृत युवती की बरामदगी को लेकर छापेमारी जारी है।