जागरण संवाददाता, बिहारशरीफः पूर्व केंद्रीय मंत्री रामचंद्र प्रसाद सिंह उर्फ आरसीपी सिंह अब अगले तीन दिनों तक वेट एंड वाच की स्थिति में रहेंगे। सोमवार की रात जब उनसे बातचीत हुई तो उन्होंने कहा कि किसी पर ज्यादा टिप्पणी नहीं करूंगा, इंतजार करें। आरसीपी ने कहा कि बोलने के लिए फिलहाल कुछ खास नहीं है। समय का इंतजार करें, कुछ अच्छा ही होगा। जनता दल यूनाइटेड (जदयू) व राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के बीच पक रही खिचड़ी पर भी कुछ बोलने से उन्होंने इनकार किया। कल तक समर्थकों से घिरे रहने वाले आरसीपी अपने घर के तालाब पर चंद लोगों के साथ ही मिले। 

यह भी पढ़ें: Bihar Politics: नई सरकार में मुजफ्फरपुर के इन नेताओं की लग सकती है लाटरी, बढ़ सकता है जिले का प्रतिनिधित्व

बता दें कि पूर्व केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह ने शनिवार को जनता दल यूनाइटेड (जदयू) से से इस्तीफा दे दिया था। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके आरसीपी सिंह ने अपना त्यागपत्र पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा को भेजा। जदयू प्रदेश अध्यक्ष ने चार अगस्त को आरसीपी सिंह को पत्र लिखकर इसका जवाब देने को कहा था कि उन पर विगत नौ वर्षों में 52 भूखंड खरीदने के आरोप पार्टी के ही दो लोगों द्वारा लगाए गए हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने आरसीपी को स्पीड पोस्ट कर इस बारे में जवाब देने के लिए कहा था। पार्टी के बाइलाज की धारा -19 के तहत यह बात कही गई थी कि अगर 15 दिनों के भीतर आरसीपी ने जवाब नहीं दिया तो उन पर कार्रवाई भी होगी। कार्रवाई के तहत पार्टी से निलंबित किए जाने का भी प्रविधान है। पार्टी की नोटिस जारी होने के बाद आरसीपी सिंह ने जदयू से  इस्तीफा दे दिया। जदयू से नाता तोड़ने के बाद उन्होंने मीडिया के सामने जमकर भड़ास निकाली। कहा कि जदयू डूबता हुआ जहाज है। इससे जल्द उतर जाना ही बेहतर रहेगा।

यह भी पढ़ें : Bihar Crime: नहा रही नाबालिग लड़की के साथ भाई ने किया गलत काम... सभी कह रहे SHAME-SHAME

 

Edited By: Akshay Pandey