पटना, राज्य ब्यूरो। जन अधिकार पार्टी सुप्रीमो पप्पू यादव ने कहा है कि हमारी पार्टी निजी क्षेत्र में आरक्षण की वकालत करती है और हम इसे लेकर कार्य करेंगे। युवा हमारे नीतियों के केंद्र में है और 85 फीसद युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्चित करना हमारी प्राथमिकता है। पप्पू यादव बुधवार को अंबेडकर जयंती के मौके पर एक परिचर्चा को संबोधित कर रहे थे। जिसका विषय था “बढ़ती बेरोजगारी और मरता बिहारी”।

पप्पू यादव ने कहा कि बाबा साहब ने गलत को गलत कहने की हिम्मत की और अपने अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी।अपने अधिकारों के साथ-साथ उन्होंने समाज के हर वर्ग के अधिकारों की लड़ाई लड़ी, जिन्हें हेय दृष्टि से देखा जाता था। साथ ही उन्होंने समाज के सभी वर्गों की भागीदारी की वकालत की।  

आर्थिक और शैक्षणिक परिवर्तन के बिना बदलाव संभव नहीं

पप्पू यादव ने कहा कि महाभारत काल से लेकर अभी तक भारतवर्ष के हजारों वर्ष के इतिहास में कई बदलाव हुए। इस दौरान बाबा साहेब अम्बेडकर, ज्योतिबा फुले, राजा राम मोहन राय जैसे कई समाज सुधारक हुए जिन्होंने मानवीय मूल्यों को केंद्र में रख कर समाज में परिवर्तन लाने के लिए कार्य किया। वर्तमान समय में आर्थिक और शैक्षणिक परिवर्तन के बिना समाज में बदलाव संभव नहीं है। अगर कोई व्यक्ति अपने बच्चे को अच्छी शिक्षा और अच्छा स्वास्थ्य नहीं दे सकता तो फिर किसी अन्य चींज की बात करने का कोई मतलब नहीं है।

कोरोना काल में हो रहे चुनावी रैलियों पर बोलते हुए पप्पू यादव ने ने कहा कि रैलियों में नेता बिना मास्क के लाखों की भीड़ जुटा रहे हैं लेकिन यदि कोई आम आदमी बिना मास्क के बाहर निकल जाता है तो उससे फाइन वसूला जाता है।स्थिति दिन प्रति दिन खराब होती जा रही है और सरकार इससे निपटने में विफल साबित हुई है। कार्यक्रम को राघवेंद्र सिंह कुशवाहा, राजू दानवीर ने भी संबोधित किया।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप