राज्य ब्यूरो, पटना: भाजपा ने दो टूक शब्दों में कहा है कि बिहार विधान परिषद चुनाव में विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) को एक भी सीट नहीं दी जाएगी। भाजपा के बयान के बाद वीआइपी प्रमुख मुकेश सहनी ने कहा, फिलहाल उनका सारा ध्यान उत्तर प्रदेश चुनाव पर है। परिषद चुनाव को लेकर भाजपा से बात भी नहीं हुई है। उन्होंने साफ किया वीआइपी की डिमांड चार सीट की होगी। यदि बात नहीं बनी तो सभी 24 सीटों पर अपने प्रत्याशी देंगे। सहनी ने यह भी कहा कि विकासशील इंसान पार्टी और जीतनराम मांझी की हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा की कोई अनदेखी नहीं कर सकता है

सहनी ने कहा बिहार में यदि एनडीए की सरकार चल रही है और वीआइपी एनडीए का हिस्सा है। हमारा गठबंधन भाजपा के साथ है। हमने राज्यसभा चुनाव में उनकी मदद की। विधान परिषद का चुनाव हुआ तो हमारी पार्टी ने भाजपा-जदयू को समर्थन दिया। उप चुनाव हुए तो भी हमारी पार्टी उनके समर्थन में थी। हम प्रचार में भी गए। ये सारे तथ्य बताते हैं कि बिहार में एनडीए है। अब अगर कोई अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं तो इसमें उनकी मर्जी। हम भी तैयार हैं। जब गठबंधन ही नहीं रहेगा तो सभी स्वतंत्र हैं, चुनाव लड़ने के लिए। सहनी ने एक प्रश्न पर कहा कि दूसरी पार्टी का तो वे नहीं जानते, लेकिन यह हकीकत है कि बिहार में वीआइपी और पूर्व सीएम जीतनराम मांझी की हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) की कोई अनदेखी नहीं कर सकता है। हमारी ताकत भी बढ़ रही है। आने वाले वक्त में हमारी ताकत और बढ़ेगी। बिहार में काम भी करेंगे और बिहार के साढ़े 12 करोड़ की जनता की उम्मीदों पर हम खरा भी उतरेंगे। विदित हो कि रविवार को पटना में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता तारकिशोर प्रसाद ने कहा था कि बीजेपी ने ही मुकेश सहनी को एमएलसी और अब वह मंत्री हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि स्थानीय प्राधिकार के चुनाव में एक भी सीट वीआइपी को नहीं दी जाएगी। 

Edited By: Akshay Pandey