पटना, राज्य ब्यूरो । Bihar Politics: शहरों की सूरत संवारने और जल जमाव जैसी मूलभूत समस्याओं को लेकर उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद रविवार को विकास भवन सचिवालय में पूरी रौ में नजर आए।

उन्होंने नगर विकास एवं आवास मंत्री का पदभार ग्रहण करने के साथ ही विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। कई बिंदुओं पर विभागीय अधिकारियों को चेताया। जनता की मूलभूत समस्याओं की ओर ध्यान आकृष्ट किया। उप मुख्यमंत्री ने दो टूक कहा कि प्रमंडलीय स्तर पर जाकर नगर निकायों के लिए संचालित विकास योजनाओं और समस्याओं की समीक्षा होनी चाहिए। नगर निकायों में परंपरागत नालों को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए। नगर निकायों को अपग्रेड करने के बाद उत्पन्न समस्याओं से विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया।

ग्रामीण आबादी को नगरीय सुविधाएं मुहैया कराएं

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि नगर निकायों को नगर पंचायत से नगर परिषद और नगर परिषद से नगर निगम में अपग्रेड के बाद शामिल किए जाने वाले ग्रामीण आबादी प्राथमिकता के आधार पर नगरीय सुविधाएं मुहैया कराएं। नगर निगम क्षेत्र में शामिल हुए ग्रामीण आबादी को वर्षों बीत जाने के अभी नगरीय मूलभूत सुविधाएं नहीं मिली है।

तारकिशोर प्रसाद ने सचिवालय के बजाए नगर निकायों की समीक्षा प्रमंडलीय स्तर करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रमंडलीय स्तर पर बैठक से होने वाले  लाभ के बारे में भी अधिकारियों को बताया। स्थानीय जनप्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से प्रमंडलीय बैठक में बुलाने के निर्देश दिए।

टैक्‍स संग्रह को लेकर भी चेताया

नगर विकास एवं आवास विभाग सभागार में संपन्न हुई समीक्षा बैठक में विभाग के सचिव आनंद किशोर, बुडको व आवास बोर्ड के एमडी रमन कुमार के अलावा विभाग के अभियंता प्रमुख और अन्य अधिकार उपस्थित थे। उप मुख्यमंत्री ने पटना नगर निगम  के लिए अलग से समीक्षा बैठक बुलाने के निर्देश दिए। टैक्स संग्रह को लेकर विभागीय अधिकारियों चेताया। विभिन्न समितियों की गड़बडिय़ों की ओर भी अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया।

Edited By: Sumita Jaiswal