पटना, राज्य ब्यूरो । Bihar Politics: भाकपा माले (CPI-ML)  के राज्य सचिव (state Secretary)  कुणाल (Kunal) ने कहा है ऐक्टू (All India Center for Trade Unions)  सहित सभी केंद्रीय ट्रेड यूनियनों (Central Trade Union) के संयुक्त आह्वान पर आगामी 26 नवंबर को आयोजित देशव्यापी आम हड़ताल (nationwide strike)  का हमारी पार्टी सक्रिय समर्थन करेगी। रिकार्डतोड़ बेरोजगारी (unemployment) व कमरतोड़ महंगाई (price hike), गुलामी के चार श्रम कोड कानूनों (Labour law) , कंपनी राज-निजीकरण और देश के संसाधनों को बेचने तथा संविधान व लोकतंत्र पर हमले के खिलाफ आयोजित यह देशव्यापी हड़ताल देश बेचू मोदी सरकार को करारा राजनीतिक जबाव होगा।

समान काम के लिए समान वेतन पर निर्णायक लड़ाई

कुणाल ने कहा  कि हमारी पार्टी केंद्र सरकार से  सभी  चार श्रम कोड कानूनों को अविलंब वापस लेने, कार्य दिवस 12 घंटा करने के आदेश रद्द करने, स्कीम वर्करों का सरकारी सेवक का दर्जा देने, समान काम के लिए समान वेतन का प्रावधान करने, निजीकरण की प्रक्रिया पर रोक लगाने आदि मांगों को अविलंब पूरा करने की मांग करती है। उन्‍होंने कहा कि बिहार में रोजगार व समान काम के लिए समान वेतन चुनाव में हमारा प्रमुख मुद्दा था। आने वाले दिनों में सम्मानजनक रोजगार और समान काम के लिए समान वेतन की मांग पर निर्णायक लड़ाई होगी।

किसानों के आंदोलन को समर्थन

कुणाल ने साथ ही यह भी कहा कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर आगामी 26-27 नवंबर को तीनों किसान विरोधी कानूनों को रद करने की मांग पर देशव्यापी कार्यक्रम के तहत जिला/अनुमंडल/प्रखंड मुख्यालयों पर धरना का आयोजन किया जाना है । हमारी पार्टी किसानों के इस आंदोलन का पूरी तरह से समर्थन करती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस