पटना, राज्य ब्यूरो । विधानसभा (Bihar State Assembly )  में गुरुवार ( 25 फरवरी) को बजट पर सामान्य विमर्श के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (leader of opposition Tejashwi Yadav)  ने पशुपालन मंत्री व वीआइपी के अध्‍यक्ष मुकेश सहनी (Minister and VIP President Mukesh Sahni) को रिचार्ज कूपन बताया और कहा कि पता न अगली बार रिचार्ज हो पाएगा या नहीं। दरअसल तेजस्वी यादव जब सदन में विमर्श के दौरान राज्य सरकार पर हमले कर रहे थे तो मुकेश सहनी ने बीच में ही कुछ कहना चाहा। इसपर तेजस्वी ने सहनी को कहा - आप चुप रहिए,  आप तो रिचार्ज कूपन हैं। आपको पहले अपनी चिंता करनी चाहिए। पता न आपको दोबारा रिचार्ज होने का मौका मिलेगा या नहीं। यानी दोबारा मंत्री बनेंगे या नहीं ।

डेढ़ साल का है कार्यकाल

दरअसल मुकेश सहनी को भाजपा (BJP) ने मंत्री बनाने के बाद डेढ़ साल के लिए विधान परिषद का सदस्य बनाया है। तेजस्वी का संकेत इसी ओर था कि पता न भाजपा दोबारा आपको सदस्य बनने को मौका देती है या नहीं। तब तो सदन में बैठ भी नहीं सकेंगे।

चुनाव में सहनी खुद अपनी सीट नहीं बचा पाए

बता दें कि  मुकेश सहनी की पार्टी वीआइपी ने विधान सभा चुनाव 2020 में भाजपा से समझौते के तहत 11 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए थे। इनमें से चार सीटों पर वीआइपी ने जीत दर्ज की। मुकेश सहनी खुद अपनी ही सीट हार बैठे, मगर उनके चार विधायक जीतकर सदन पहुंच गए। इसके बाद भाजपा ने उन्‍हें विधान परिषद का सदस्‍य बनाकर नीतीश मंत्रिमंडल (Nitish Cabinet ) में मंत्री बनाया है। हालांकि, मुकेश सहनी डेढ़ साल कार्यकाल वाली खाली सीट पर विधान परिषद का सदस्‍य नहीं बनना चाहते थे। उन्‍होंने इसपर आपत्ति भी की थी। मगर भाजपा के वरिष्‍ठ नेता अमित शाह (Amit Shah) के कहने पर मान गए। 

गौरतलब है कि मुकेश सहनी पहले तेजस्‍वी के नेतृत्‍व वाली महागठबंधन (Grand Alliance) में थे। उन्‍होंने तेजस्‍वी से डिप्‍टी सीएम पद की मांग की थी। मांग पूरी नहीं होने पर भाजपा से हाथ मिलाकर एनडीए गठबंधन में शामिल हुए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप