पटना [जेएनएन]। बिहार में खाकी वर्दी फिर शर्मसार हुई है। इसका 'जूता कनेक्‍शन' जान कर आप हैरत में पड़ जाएंगे। चौंकिए नहीं, किसी को किसी ने जूता नहीं मारा है। मामला घूस में जूता लेने का है। पटना के दीघा थानाध्‍यक्ष से जुड़ा एक ऑडियो वायरल हुआ है, जिसमें वे कथित तौर पर दलाल के माध्‍यम से एक फरियादी से से जूते ले रहे हैं। इस ऑडियो को लेकर बैकफुट पर आए पुलिस अधिकारी अब जांच के बाद कार्रवाई की बात क‍ह रहे हैं।

थानाध्यक्ष ने कार्रवाई के बदले रखी घूस की मांग

जानकारी के अनुसार पटना के दीघा थानाध्यक्ष पंकज कुमार पर आरोप है कि उन्होंने एक फरियादी से घूस में पैसे के साथ-साथ अपने बेटे के लिए जबरन जूता भी ले लिया। फरियादी दीघा के शत्रुघ्न यादव हैं, जिन्‍होंने अपनी पुश्‍तैनी जमीन के विवाद के निबटारे के लिए पुलिस से गुहार लगाई है। सालों से जारी इस विवाद में शत्रुघ्‍न विवादित जमीन पर दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत कार्रवाई चाहते हैं। हाल ही में जब दीघा थाना का प्रभार सब इंस्‍पेक्‍टर पंकज कुमार को मिला तो शत्रुघ्न यादव ने उनसे मुलाकात की। शत्रुघ्‍न के अनुसार दीघा थानाध्यक्ष ने धारा 144 के तहत कार्रवाई के बदले घूस की मांग रखी।

पहले सात हजार रुपये लिए, फिर लिया जूता

शत्रुघ्न यादव की मानें तो उन्‍होंने थानााध्‍यक्ष को सात हजार रुपये दिए। इसके बाद थानाध्‍यक्ष ने अपने दलाल मुकेश के माध्यम से बेटे के लिये जूते की मांग की। दलाल ही शत्रुघ्न को एक दुकान पर ले गया, जहं उसने 2500 रुपये का रिबॉक कंपनी का जूता पसंद किया।

अब वायरल ऑडियो की होगी जांच

घटनाक्रम के दौरान शत्रुघ्‍न ने मोबाइल पर जो बातचीत की, उनके ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गए हैं। वायरल ऑडियो के अनुसार घूस देने के बाद काम हो जाने का अश्‍वासन दिया गया है। दीघा थानाध्‍यक्ष ने खुद पर लगे आरोप को निराधार बताया है। हालांकि, फरियादी शत्रुघ्‍न ने घटना को सही करार देते हुए थानाध्‍यक्ष पर कार्रवाई की मांग की है। घटना की बाबत डीएसपी (कानून व्‍यवस्‍था) राकेश कुमार ने कहा कि यह गंभीर मामला है। इसकी जांच करा कर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप