जागरण संवाददाता, पटना सिटी। पटना पुलिस के चालक की धमकी के बाद थाना में हड़कंप मच गया। चालक का आरोप है कि उसके साथ थानेदार ने गलत काम किया है। बाईपास थाना में चालक के पद पर कार्यरत स्पेशल आक्जीलिरी पुलिस सैप के सेवानिवृत्त जवान द्वारा आत्महत्या किए जाने की धमकी देने से शुक्रवार को थाना में हड़कंप मचा रहा। चालक ने इसको लेकर वीडियो भी जारी किया है। 57 वर्षीय चालक राजदेव प्रसाद सिंह की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए थानाध्यक्ष को तीनों पाली में एक-एक जवान की ड्यूटी लगानी पड़ी। चालक द्वारा अकारण पुलिस लाइन तबादला किए जाने का आरोप थानाध्यक्ष पर लगाया जा रहा है।

चालक के आरोप पर बाइपास थाना के थानाध्यक्ष अमित कुमार का कहना है कि चालक बाईपास थाना में तीन बार से पदस्थापित है। अमित कुमार ने बताया कि उच्च अधिकारी के आदेश पर पुलिस लाइन भेजा गया है। शाम में थानाध्यक्ष ने कहा कि चालक बैरक से कहीं चला गया है। संभवत: पुलिस लाइन में योगदान देने गया हो।

  • छपरा के भरहीपुर निवासी चालक ने 24 वर्षों तक सैप के जवान रहे
  • अकारण पुलिस लाइन तबादला किए जाने का थानाध्यक्ष पर लगाया आरोप
  • थानाध्यक्ष बोले- तीन बार से एक ही थाना में पदस्थापित, आदेश से हुआ तबादला

चालक ने बताया कि 24 वर्षों तक सैप का जवान रहा। वर्ष 2019 से बाईपास थाना में चालक के पद पर कार्यरत हूं। मुझ पर किसी तरह का कोई आरोप नहीं होने के बावजूद थानाध्यक्ष ने बिना कोई कारण बताए पुलिस लाइन तबादला कर दिया है। जारी वीडियो में चालक ने कहा कि वो इस फैसले से आहत है और आत्महत्या कर लेगा। वहीं, थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि चालक राजदेव प्रसाद सिंह लंबे समय से थाना में पदस्थापित है। वर्ष 2011, 2014 और 2019 से एक ही जगह है। शीर्ष अधिकारी के आदेश से नियमानुसार तबादला किया गया है।

Edited By: Rahul Kumar