पटना, आनलाइन डेस्‍क। शराबबंदी कानून पर भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष डा. संजय जायसवाल के बयान के बाद जदयू प्रवक्‍ता अभिषेक झा के पलटवार को लेकर दोनों दलों में असहज स्थिति बनी हुई है। अब बिहार सरकार के मंत्री और भाजपा नेता नि‍तिन नवीन ने जदयू प्रवक्‍ता को मर्यादा में रहने की नसीहत दी है। कहा है कि उन्‍हें बीजेपी के प्रदेश अध्‍यक्ष से सवाल-जवाब करने का कोई अधिकार नहीं है। इस क्रम में उन्‍होंने राजद पर भी तंज कसा। कहा कि मकर संक्रांति के बाद सरकार बनाने वाले कहां चले गए।  

भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष पर जदयू प्रवक्‍ता ने किया पलटवार 

मालूम हो कि बिहार में सम्राट अशोक प्रकरण को लेकर जदयू-भाजपा में तल्खियां बढ़ी हुई है। अब मामला शराबबंदी कानून तक पहुंच गया। संजय जायसवाल ने जदयू प्रवक्‍ता अभिषेक झा को संबोधित करते हुए फेसबुक पर लिखा कि मीडिया से बाहर निकलिए, शराबबंदी की सच्‍चाई पता चल जाएगी। इसके बाद जदयू प्रवक्‍ता ने भी डा. जायसवाल पर पलटवार किया। उन्‍होंने भी फेसबुक पर लिखा कि आपका प्रवचन देने का कोई अर्थ नहीं है। इसके बाद उन्‍होंने शराबबंदी पर दिए गए बयान को लेकर सवाल खड़ा कर दिया। इसके बाद अब पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन सामने आए हैं। मीडिया से बात करते हुए उन्‍होंने जदयू प्रवक्‍ता को नसीहतें दी हैं। 

गठबंधन की मर्यादा नहीं समझ रहे जदयू प्रवक्‍ता 

नित‍िन नवीन ने कहा कि अभिषेक जी को गठबंधन की मर्यादा समझनी चाहिए। उन्‍हें दूसरे दल के प्रदेश अध्‍यक्ष से सवाल-जवाब का अधिकार नहीं है। कुछ बातें थीं तो उन्‍हें पार्टी फोरम पर रखना चाहिए था। उन्‍हें अभी बहुत कुछ सीखने की जरूरत है। अपने दल से भी और हमारी पार्टी से भी। इस दौरान मंत्री ने जोर देकर कहा कि भाजपा-जदयू में कोई खटास नहीं है। दोनों दलों को पता है कि बिहार के हित के लिए दोनों का साथ चलना जरूरी है। शराबबंदी कानून को लेकर उन्‍होंने कहा कि जनता के हित में कानून बनाया गया है। जहां कमियां हैं, उन्‍हें दूर किया जाएगा। 

कहां गए मकर संक्रांति के बाद सरकार बनाने वाले 

नित‍िन नवीन ने इस दौरान राजद भी जमकर कटाक्ष किया। उन्‍होंने कहा कि राजद का काम ही तंज कसना रह गया है। वे तो मकर संक्रांति के बाद सरकार बनाने वाले थे। क्‍या हुआ, कहां छिप गए।  

Edited By: Vyas Chandra