ऑनलाइन डेस्क, पटना। बिहार में कोरोना की चेन टूटने का नाम नहीं ले रही है। संक्रमण के प्रसार के साथ अब चिंता जान जाने के बढ़ते आंकड़े को लेकर भी हो गई है। मंगलवार की ही बात करें तो स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट में एक दिन में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित की मौत हुई है। 24 घंटे के अंदर 105 लोगों ने संक्रमण की चपेट में आकर अपनी जान गंवा दी है। स्थिति को देखते हुए बिहार सरकार ने आज से लॉकडाउन लगा दिया है। ऐसे में राशन के लिए चिंतित लोगों के लिए राहत भरी खबर है। अगले दो महीने बिहार के लगभग करीब आठ 70 लाख लोगों को मुफ्त में राशन मिलेगा।

बिहार सरकार करेगी राशि का भुगतान

05 मई से 15 मई तक लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही बिहार सरकार ने गाइडलाइन भी जारी की है। इसके तहत राहत भरी खबर यह है कि मई महीने राशन के लिए राशन कार्ड धारकों को किसी तरह का शुल्क नहीं देना होगा। गाइडलाइन में बिहार सरकार ने स्पष्ट किया है कि सभी राशन कार्ड धारकों को मई महीने में राशन की प्राप्ति के लिए किसी राशि का भुगतान नहीं करना होगा। राशन पर खर्च हो रही राशि का भुगतान खुद बिहार सरकार करेगी।  जून में भी लोगों को फ्री राशन मिलेगा, लेकिन वह पहले से मिल रहे राशन के अतिरिक्‍त होगा। यानी कि जून में लोगों को राशन के लिए भुगतान तो करना होगा, लेकिन उतने का ही जितना पहले देते थे। और उन्‍हें जून में भी अलग से पांच किलो मुफ्त अनाज मिलेगा।

केंद्र सरकार से भी मिल रहा फायदा

बता दें कि केंद्र सरकार ने हाल में मई और जून महीने के लिए फ्री में अतिरिक्‍त राशन देने की घोषणा पहले से कर रखी है। इससे कोरोना संक्रमण के चलते रोजगार पाने में कठिनाई का सामना करने वाले लोगों को बड़ी राहत मिली है। केंद्र सरकार के फैसल से बिहार के आठ करोड़ 70 लाख लोगों को पांच किलो अनाज मुफ्त दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के तहत मई और जून महीने में दो किलो गेहूं और तीन किलो चावल फ्री दिया जा रहा है। यह हर माह मिलने वाले अनाज के अतिरिक्त है। ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बेरोजगार हुए लोगों को बड़ी राहत मिली है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप