राज्य ब्यूरो, पटना। हर घर तिरंगा कार्यक्रम में बिहार के लगभग डेढ़ करोड़ घरों में तिरंगा फहराने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए सभी सरकारी विभागों को अलग-अलग जवाबदेही दी गई है। सभी सरकारी कार्यालयों, पुलिस थाना, पर्यटन केंद्रों पर भी झंडा फहराने का निर्देश है। जीविका दीदी के द्वारा विभिन्न जिलों में झंडा तैयार किया गया है। सहकारिता विभाग ने भी बुनकर समितियों के माध्यम से झंडा निर्माण कराया है, जिसे जिलों के द्वारा खरीदा जा सकता है।
कला, संस्कृति एवं युवा विभाग इसका नोडल विभाग है। हर घर तिरंगा कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए सभी विभागों में कार्यरत कर्मियों को 10-10 घरों को झंडा फहराने के लिए प्रेरित करने को कहा गया है। आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी झंडा फहराने के लिए आमलोगों को भी प्रेरित करना है। पंचायती राज विभाग की ओर से पंचायत स्तर पर तिरंगा झंडा का क्रय-विक्रय केंद्र बनाकर ग्रामीणों को झंडा खरीदने के लिए प्रेरित करने को कहा गया है। 
थानों के अलावा घर पर भी तिरंगा फहराएंगे पुलिसकर्मी
पुलिस विभाग के द्वारा सभी थाना, ओपी, चेक प्वाइंट पर बैनर-पोस्टर लगाकर झंडा फहराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों को अपने-अपने घरों में भी झंडा फहराने को कहा गया है। पर्यटन विभाग कार्यक्रम के तहत सभी पर्यटन स्थलों पर झंडोतोलन करेगा। इसके साथ इंटरनेट मीडिया पर भी जागरूकता अभियान चलाना है। शिक्षा विभाग सरकारी व निजी स्कूल-कालेजों के माध्यम से झंडा फहराना सुनिश्चित कराएंगे।

समाज कल्याण विभाग प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्रों पर झंडा फहराएगा। इसके साथ ही सूचना एवं जनसंपर्क विभाग रेडियो जिंगल के माध्यम से हर घर तिरंगा अभियान के लिए लोगों को जागरूक करेगा। इसके अलावा कृषि विभाग किसान सलाहकार समिति के माध्यम से जबकि पर्यावरण एवं वन विभाग डीएफओ कार्यालय, रेंज कार्यालय आदि के माध्यम से झंडा फहराने का काम करेगा। स्वास्थ्य विभाग ने आशा व एएनएम को हर घर झंडा कार्यक्रम से जोड़ा है। 

Edited By: Shubh Narayan Pathak