पटना, जागरण टीम। Bihar Flood Alert उत्तर बिहार में नदियों का जलस्तर ऊपर-नीचे हो रहा है। इससे कई इलाकों में बाढ़ का पानी चढ़ रहा है। बागमती नदी शिवहर में उफान मार रही है। इस कारण एनएच 104 पर पानी चढ़ गया है। साथ ही शिवहर का सीतामढ़ी से सड़क संपर्क भी टूट गया है। गाेपालगंज में गंडक का पानी घट रहा है, लेकिन अभी भी 30 गांव पानी से घिरे हैं।

शिवहर में बागमती की पुरानी धार में उफान

तेज बारिश के कारण शिवहर में बागमती की पुरानी धार में उफान देखा जा रहा है। पानी के तेज बहाव में शिवहर-सीतामढ़ी एनएच 104 पर धनकौल-बुनियादगंज के पास स्थित डायवर्सन बह गया है। इस पर दो से तीन फीट पानी रहने से आवागमन बंद हो गया है। बुनियादगंज पुल समेत हाईवे निर्माण पर भी ब्रेक लग गया है। शिवहर का सीतामढ़ी से सड़क संपर्क भंग हो गया है। इधर मधुबनी के मधवापुर में खतरा मंडराने लगा है। धौंस नदी के सुरक्षा तटबंधों के क्षतिग्रस्त रहने के कारण लोगों में भय है।

गोपालगंज में गंडक के पानी से घिरे 30 गांव

गोपालगंज जिले में गंडक नदी नदी का जलस्तर तेजी से कम हो रहा है। हालांकि, छह प्रखंडों के 30 गांव अब भी पानी से घिरे हैं। इन गांवों के लोगों के लिए नाव ही आवागमन का एकमात्र सहारा है। बाढ़ से अब भी जिले की 16 हजार की आबादी प्रभावित है। अधिकारियों ने उम्मीद जताई है कि एक-दो दिन में नदी का पानी और कम होगा।

सारण के पानपुर में गंडक के पानी से कटाव

उधर, सारण में गंडक नदी के जलस्तर में कमी के बावजूद पानापुर प्रखंड के सोनवर्षा गांव में तेजी से कटाव हो रहा है। इस कारण नदी किनारे बने लोगों के घर ध्वस्त हो रहे हैं। सिवान जिले में सरयू नदी का जलस्तर बुधवार को डेंजर प्वाइंट के करीब पहुंच गया।

खगडि़या में घट रही है कोसी व बागमती

खगडि़या में कोसी और बागमती के जलस्तर में थोड़ी कमी आई है। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल-दो के कार्यपालक अभियंता गणेश प्रसाद सिंह ने बताया कि चोढ़ली जमींदारी बांध के बारुण स्थल पर पांच-पांच मीटर की दूरी में परकोपाइन गिरा कर उसके पीछे एनसी टीथ दिया जा रहा है। पूरी लंबाई में नदी के सामांतर बंबू रोल का भी कार्य चल रहा है। 53 मीटर में दोनों कार्य किया जा रहा है। 100 मीटर में सिर्फ बंबू रोल का कार्य हो रहा है। कार्यपालक अभियंता ने सभी बांध-तटबंधों को सुरक्षित बताया है।

Edited By: Amit Alok