जागरण टीम, पटना। बिहार इंजीनियरिंग के छात्रों ने मंगलवार को पटना स्थित आर्यभट्ट नालेज यूनिवर्सिटी (एकेयू) पहुंचकर विरोध-प्रदर्शन किया। छात्रों की मांग थी कि विश्वविद्यालय में शीघ्र आनलाइन परीक्षा का संचालन किया जाए। इंजीनियरिंग सत्र 2020-24 के छात्रों का कहना है कि उनका सत्र पहले से ही आठ माह विलंब से चल रहा है। ऐसी स्थिति में विश्वविद्यालय के द्वारा कोरोना गाइडलाइन की वजह से 27 जनवरी से होने वाली द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। विश्वविद्यालय के द्वारा यह आश्वासन दिया जा रहा है कि राज्य सरकार ने छह फरवरी तक विवि की परीक्षाओं के संचालन पर रोक लगाई है। इसके बाद ही परीक्षाएं हो सकेंगी।

इंजीनियरिंग के छात्र सोनू कुमार, राहुल कुमार, अभिषेक कुमार, रौनक राज, आदित्य कुमार, आदि का कहना था कि विश्वविद्यालय छात्रों की परेशानियों पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहा है। विश्वविद्यालय को सत्र 2020-24 के छात्रों की शीघ्र ही परीक्षा लेनी चाहिए। छात्रों का कहना था कि यदि कोविड की वजह से वर्तमान की स्थिति परीक्षा संचालन के अनुकूल नहीं है तो ऐसे में विश्वविद्यालय को सत्र 2020-24 के द्वितीय सेमेस्टर के छात्रों की आनलाइन परीक्षा संचालन पर ध्यान देना चाहिए, जिससे कि छात्रों का सत्र ज्यादा विलंब ना हो। "

विवि के छात्रों की परीक्षा के लिए दी जाए वैकल्पिक सुविधा

छात्रों का कहना है कि कोरोना की लहर हर बार आती रही है और आगे भी आ सकती है। इस लिए जिस तरह कालेजों के द्वारा पढ़ाई के लिए वैकल्पिक आनलाइन व्यवस्था की गई है, उसी तरह विश्वविद्यालय को भी परीक्षा संचालन के लिए विकल्प पर जोर देना चाहिए। छात्रों का कहना था कि इससे कोरोना की लहर आने पर भी परीक्षाएं समय पर लीं जा सकेंगी। विश्वविद्यालय के द्वारा यह आश्वासन दिया जा रहा है कि राज्य सरकार ने छह फरवरी तक विवि की परीक्षाओं के संचालन पर रोक लगाई है। इसके बाद ही परीक्षाएं हो सकेंगी।

Edited By: Akshay Pandey