पटना, जेएनएन। Bihar Election 2020 एक्जिट पोल के नतीजों के बाद से आमो-खास में चर्चाएं बहुत तेज हो गई हैं। फोकस में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव हैं। क्या उनका प्रोफाइल बदलने जा रहा है। एक्जिट पोल के नतीजे तो यही बता रहे हैं कि तेजस्वी यादव बिहार के अगले मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। अगर ऐसा हुआ तो दो कीर्तिमान बनेंगे। पहला वह बिहार के सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री होंगे और दूसरा किसी एक ही परिवार से मुख्यमंत्री बनने वाले तीसरा सदस्य होंगे। एक साथ दोनों रिकार्ड देश में वह पहली बार अपने नाम कर सकते हैं। 9 नवंबर को तेजस्वी यादव का जन्म दिन है। इससे पहले आए एग्जिट पोल के नतीजे के समर्थक जोश में हैं। इसका नजारा पटना की सड़कों पर दिखने लगा है। राजद की तरफ तेजस्वी यादव को कृष्णावतार बताते हुए पटना की सड़कों पर होर्डिंग लगाया गया है। 

सबसे कम उम्र में बिहार के डिप्टी सीएम बने, अब सीएम की बारी

महागठबंधन के मुख्यमंत्री प्रत्याशी तेजस्वी यादव की उम्र अभी 31 वर्ष है। लालू-राबड़ी परिवार में नौ नवंबर 1989 में उनका जन्म हुआ था। 26 साल की उम्र में तेजस्वी पहली बार विधायक बने थे। पांच साल पहले उन्होंने अपने नाम से एक और रिकार्ड बनाया था। सबसे कम उम्र में बिहार के डिप्टी सीएम बने थे।

बेरोजगारी को मुद्दा बनाकर तेजस्वी ने बिहार में महागठबंधन के लिए अनुकूल माहौल बनाया। पूरे चुनाव में उन्होंने महागठबंधन के प्रत्याशियों के लिए प्रचार की बागडोर अपने हाथ में ले रखी थी। उन्होंने कुल 251 सभाएं की हैं। राजद, कांग्रेस और वामदलों के तकरीबन सभी प्रत्याशियों के क्षेत्र में गए।

सादगी से मनाएंगे जन्मदिन

सोमवार को तेजस्वी यादव का जन्मदिन है। वह 31 वर्ष पूरे करके 32वें प्रवेश कर जाएंगे। एक्जिट पोल के नतीजे के बाद तेजस्वी का यह जन्मदिन बेहद खास होगा। प्रत्येक साल युवा राजद उनके जन्मदिन को युवा दिवस के रूप में मनाता आ रहा है। इस बार भी कुछ वैसा ही उत्साह है। हालांकि सूत्रों का कहना है कि चुनाव की व्यस्तता के बीच तेजस्वी अपने जन्मदिन को बेहद सादगी से मनाएंगे। कुछ ऐसा नहीं करना चाहते हैं, जिससे उनके कार्यकर्ता ज्यादा उत्साहित हो जाएं। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को धैर्य बनाए रखने और चुनाव परिणाम को सादगी से स्वीकारने की हिदायत भी दी है।

कीर्तिमान बना सकते हैं तेजस्वी

एक्जिट पोल का अनुमान सच हुआ तो देश के किसी भी राज्य में तेजस्वी सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री बन सकते हैं। हालांकि अभी एक और के नाम से यह रिकार्ड है। पुड्डुचेरी के एमओएच फारुक 29 साल की उम्र में मुख्यमंत्री बन चुके हैं। किंतु पुड्डुचेरी केंद्र शासित प्रदेश है। बिहार में अभी तक सबसे कम उम्र में मुख्यमंत्री बनने का कीर्तिमान सतीश प्रसाद सिंह के नाम है। वह 1968 में मात्र 32 साल की उम्र में मुख्यमंत्री बने थे। उनका मात्र पांच दिनों का कार्यकाल रहा था।