पटना [जेएनएन]। बिहार के जमुई जिले की रहने वाली बेबी को 'इंटरनेशनल गर्ल चाइल्ड डे' के मौके पर एक दिन के लिए कनाडा का हाई कमिश्नर बनाया गया था।  ये बिल्कुल वैसा ही था जैसे अनिल कपूर की फिल्म 'नायक' में उन्हें एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बना दिया गया था। बेबी ने कभी नहीं सोचा था कि उसके जीवन में ऐसा दिन भी आएगा।

बेबी का पूरा नाम बेबी कुमारी है और उसकी उम्र 21 साल है। न्यूज एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए उन्होंने कहा- ' मेरे लिए एक बेहतरीन अनुभव है।मैंने सीखा है कि कैसे दूसरों के सामने खुद को पेश करना है साथ ही दूसरों के साथ कैसे जुड़ना है और बातचीत के बाद किसी भी समस्या को हल करना है।

बेबी ने अपने गांव और आसपास के इलाकों में बालिकाओं के शैक्षणिक, आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए काफी काम किया है। इसी के साथ बेबी ने गुजरात में बिहार और यूपी के लोगों पर हमलों के बारे में बात करते हुए कहा - ये बेहद दुखद है। अगर हमारे राज्य में ऐसी सुविधाएं होंगी तो हम सबको किसी भी दूसरे राज्य में जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

कनाडा का हाई कमिश्नर बनने के बाद उन्होंने कहा मैं कभी कनाडा नहीं गई हूं, इसे मैंने सिर्फ यूट्यूब पर ही देखा है। ये एक सुंदर देश है। आपको बता दें, बेबी की 17 साल की उम्र में शादी करवाई जा रही थी, जिसे उसने खुद अकेले ही रुकवा दिया था। वह बाल विवाह के खिलाफ हैं।

बेबी एक बहुत ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता किसान हैं। साढ़े चार फीट की बीए प्रथम वर्ष की छात्रा बेबी का हौसला बहुत ऊंचा है। बता दें, साल 2016 में बेबी कुमारी को भागलपुर गांव के समुदाय का नेता चुना गया था.

बेबी कहती हैं कि अब उनके गांव की लड़कियां न सिर्फ पढ़-लिख रही हैं बल्कि अपने पैरों पर भी खड़ी भी हो रही हैं। बतौर कनाडा की हाई कमिश्नर, बेबी ने गुरुग्राम के एक स्कूल का दौरा किया। यहां उन्होंने देश में बालिकाओं की स्थिति पर चर्चा की। शाम को उन्होंने दिल्ली में आयोजित एक समारोह में हिस्सा लेकर बालिकाओं का हौसला बढ़ाया। 

हालांकि, समारोह में मुख्य अतिथि फिल्म स्टार अनिल कपूर थे लेकिन लोगों का ध्यान बेबी और उनके जैसी 18 अन्य लड़कियों पर ही था जो अलग-अलग देशों की एक दिन के लिए राजदूत बनाई गईं थीं। समारोह की थीम ‘हम बराबर हैं’ थी।

बेबी ने कनाडा हाई कमीशन के पद पर  बैठ कर बड़े-बड़े सवाल खड़े कर जमुईवासियों को गौरवान्वित होने का अवसर दिया। अति नक्सल प्रभावित इलाके के टिटहियां निवासी कारु राय की बेटी बेबी ने गुरुवार को केनेडियन हाई कमिश्नर का पद संभाला।

इस दौरान उसने भारत सरकार और केनेडियन उच्चायुक्त से कुल तीन सवाल भी पूछे। सवालों में उसने बेटियों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, सुरक्षा एवं नियोजन का मुद्दा उठाया। केनेडियन हाई कमिश्नर नादीर पेटर के समक्ष भारत से कनाडा पहुंचने वाले बेरोजगारों को शिक्षा के आधार पर जॉब नहीं मिलने का सवाल उठाकर निरुत्तर कर दिया।

बेबी ने उक्त सवाल के अलावा भारत सरकार से भारत में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को सुनिश्चित करने में कितना वक्त लगेगा और कनाडा की तुलना में भारत में बालिकाओं की सुरक्षा कैसे बढ़ाया जाए जैसे परिपक्व सवाल उसके द्वारा किया गया।

 

Posted By: Kajal Kumari