पटना, जेएनएन। बिहार पुलिस (Bihar Police) की दारोगा भर्ती की परीक्षा में हुई तथाकथित धांधली का मामला बुधवार को बिहार विधानमंडल के बजट सत्र में दोनों सदनों में गूंजता रहा। दारोगा बहाली प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाते हुए विपक्ष ने दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया। सदन के बाहर राजद विधायकों ने नारेबाजी करते हुए न सिर्फ इस परीक्षा को रद्द करने की मांग की बल्कि पूरे मामले की सीबीआई (CBI) से जांच कराने की भी बात कही।

राजद के विधायक भाई वीरेंद्र और ललित यादव ने कहा कि अगर सरकार हमारी मांगों को नहीं मानती है तो हम लोग सदन से लेकर सड़क तक अपनी आवाज बुलंद करेंगे और इस मामले में कोताही कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमलोग इस मामले को को लेकर सरकार को चैन से बैठने नहीं देंगे।

वहीं ये मामला विधानपरिषद में भी गूंजा। कांग्रेस और राजद के विधानपार्षदों ने इसके विरोध में पोर्टिको में जमकर हंगामा किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी। सभी ने एक सुर से इस मामले की सीबीआई जांच करवाने की मांग की।

बता दें कि पिछले महीने बिहार में दारोगा भर्ती परीक्षा की पीटी का रिजल्ट घोषित किया गया है जिसके बाद से इस परीक्षा में असफल घोषित किए गए छात्र परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। मंगलवार को भी पटना में अभ्यर्थियों ने इस परीक्षा को कैंसिल करने और सीबीआई जांच की मांग को लेकर नारेबाजी प्रदर्शन किया था। 

मालूम हो कि दारोगा अभ्यर्थियों की मांग पर लोजपा अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवा ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग का समर्थन किया था और इस परीक्षा को रद्द करने की मांग के लिए सीएम नीतीश कुमार को पत्र भी लिखा था।

एेसे में एक तरफ जहां आयोग बिहार में दरोगा अभ्यर्थियों की परीक्षा का रिजल्ट आने के बाद परीक्षा लेने की तैयारी में लगा है वहीं दूसरी ओर लगातार इस परीक्षा की निष्पक्षता पर सवाल खड़े हो रहे हैं

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021