पटना, जागरण संवाददाता।  पटना में मॉडल मोना (Model Mona) को गोली मारने वाले बाइकर्स अबतक पटना पुलिस (Patna Police) की गिरफ्त से बाहर हैं। महिला मॉडल अनीता उर्फ मोना को गोली मारकर जख्मी मामले में पटना पुलिस अबतक तीन लोगों से पूछताछ कर चुकी है। पुलिस ने पीड़िता के करीबी साथी बिल्डर राजू से कई घंटे तक पूछताछ की। फायरिंग मामले में पुलिस ने बिल्डर को डिटेन किया है, जबकि उसकी गिरफ्तारी घर से शराब बरामदगी के बाद हुई। पुलिस की मानें तो बिल्डर और मोना की जान पहचान 10 सालों से है। दोनों की अच्छी दोस्ती है।

पुलिस को कुछ भी बताने से बच रही मोना

जानकारी के मतुाबिक मोना जब जख्मी होकर अस्पताल पहुंची थी तब वहां बिल्डर भी पहुंचा था। हालांकि मोना से पुलिस तीन बार पूछताछ कर चुकी है, लेकिन वह किसी के खिलाफ मुंह नही खोल रहीं है। इस वजह से पुलिस की जांच मुखबिर, फुटेज और तकनीकी जांच पर केंद्रित है। सूत्रों की मानें तो वारदात के पीछे कौन है, इसकी भनक पीड़िता को भी है, लेकिन वह कुछ भी पुलिस को बताने को तैयार नही है।

प्लॉट और पैसों की लेनदेन पर अटकी जांच

पटना पुलिस की मानें तो मॉडल मोना की जिस व्यक्ति से दोस्ती है, उसने मोना को तोहफे में जमीन दिया है। साथ ही कुछ पैसे देने की भी बात सामने आ रही है। जिस व्यक्ति से मॉडल मोना की दोस्ती है, वह भी शादीशुदा है। पुलिस को कुछ ऐसे सबूत मिले हैं। हालांकि, वह जमीन कहां है? किसने किसके नाम पर रजिस्ट्री की गई है? पटना पुलिस की तरफ से इसकी जांच भी की जा रही है आशंका है कि, मोना के दोस्त की पत्नी या दोस्त का साला ने कहीं जमीन या दोस्ती को लेकर उसे रास्ते से हटाने की साजिश तो नहीं रची? जो भी संदेह के घेरे में है पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। 

Edited By: Rahul Kumar