पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar CoronaVirus Vaccination News: बिहार की युवा आबादी का टीकाकरण करीब-करीब ठप होने के कगार पर पहुंच गया है। राज्य सरकार की ओर से अग्रिम भुगतान करने के बाद भी 18-45 उम्र वालों के लिए टीके की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। नतीजा मंगलवार को मात्र 48,139 लोगों का टीकाकरण किया गया। इसमें मात्र 2,438 टीके 18 प्लस वालों को दिए जा सके। 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग वाले लोगों के टीकाकरण की गति पिछले लगभग एक सप्‍ताह से बिल्‍कुल सुस्‍त पड़ गई है। हालत यह है कि कोवैक्‍सीन की पहली डोज ले चुके लोगों को दूसरी डोज कब मिलेगी, कोई बताने को तैयार नहीं है। इस बीच बिहार कांग्रेस ने एक बड़ी मांग सरकार से कर दी है।

पिछले पांच दिनों से नहीं मिली टीकों की खेप

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसर, जून में 18 प्लस वालों का नियमित टीकाकरण हो इसके लिए सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया और भारत बायोटेक को अग्रिम भुगतान किया जा चुका है। बावजूद चार दिन से सूबे को टीके की कोई खेप प्राप्त नहीं हो पाई है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने जागरण को बताया कि जिस प्रकार 45 उम्र से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण हो रहा है उसी प्रकार प्रदेश सरकार युवा आबादी का टीकाकरण करना चाहती है। इस बीच कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि पूरे देश में सभी के लिए टीकाकरण पूरी तरह मुफ्त में होना चाहिए। उन्‍होंने टीकों की आपूर्ति बढ़ाने की मांग भी सरकार से की।

दो से तीन दिन में आपूर्ति सामान्‍य होने का दावा

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि दोनों प्रमुख वैक्सीन कंपनियों को अग्रिम राशि भी दी जा चुकी है, लेकिन विगत चार दिनों से वैक्सीन राज्य को नहीं मिल पाई है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है दो-तीन दिन में 18 प्लस वालों के लिए वैक्सीन प्राप्त होगी। उसके बाद इस आबादी का नियमित टीकाकरण प्रारंभ हो जाएगा।

3242 टीके दिए गए फ्रंटलाइन वर्कर्स को

इधर स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार को सूबे में 48,139 लोगों का टीकाकरण किया गया। इनमें 38,924 लोगों को पहली डोज और 9215 लोगों को दूसरी डोज दी गई। 45-59 उम्र वाले 26,868 और 60 से ज्यादा उम्र वाले 6,376 लोगों को पहली डोज दी गई। 3,242 टीके फ्रंटलाइन वर्कर को दिए गए।

राज्‍य में 20 लाख लोग ले चुके टीके की दोनों डोज

पहली डोज लेने वालों के अलावा मंगलवार को ही 45-59 उम्र के 6,072 और 60 वर्ष से ऊपर के 2,006 लोगों को टीके की दूसरी डोज दी गई। 1,137 टीके फ्रंटलाइन वर्कर को दिए गए। इसके साथ ही राज्य में टीकाकरण कराने वालों की संख्या 1,0490,522 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, अब तक 84,89,318 को पहली डोज और 20,01,204 लोगों को दोनों डोज दी जा चुकी हैं।