दानापुर (पटना), संवाद सूत्र। Bihar Coronavirus Update News: बिहार में गंभीर कोरोना संकट के बीच पटना के अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन सिलेंडर और जरूरी दवाओं का संकट खत्‍म होने का नाम नहीं ले रहा है। हालत यह है कि बेड और दूसरी जरूरी सुविधाएं उपलब्‍ध रहते हुए भी अस्‍पताल मरीजों को भर्ती लेने से इंकार कर रहे हैं। हर दूसरे, तीसरे घंटे शहर के किसी न किसी अस्‍पताल में सिलेंडर का संकट उत्‍पन्‍न हो रहा है। जानकारी मिलते ही प्रशासन तुरंत वहां सिलेंडर भेजने की व्‍यवस्‍था करता है, लेकिन समस्‍या का मुक्‍कमल समाधान नहीं हो रहा है। इसको आप दानापुर के समय अस्‍पताल के उदाहरण से समझ सकते हैं। ऐसा ही हाल शहर के ज्‍यादातर अस्‍पतालों का है।

अस्‍पताल में लग गया मरीजों के लिए नो इंट्री का बोर्ड

सोमवार को नगर के सगुना मोड़ स्थित समय अस्पताल प्रशासन ने आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं होने से भर्ती कोरोना संक्रमितों के स्वजनों को ऑक्सीजन की अनुपलब्धता की जानकारी दी। साथ ही आगामी तीन दिन तक नए कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती नही करने की सूचना लगा दी है। उधर, सीट फुल होने के बाद भी लोग मरीजों को लेकर निजी अस्पताल में घूम रहे हैं।

काफी मशक्‍कत के बाद मिल पा रहे सिलेंडर

अस्पताल के सीईओ कमलेश कुमार सिंह ने बताया कि ऑक्सीजन खत्म हो रही थी। मेरे अस्पताल में कोरोना के 86 मरीज भर्ती हैं। ऑक्सीजन खत्म होती देख स्वजनों को व्यवस्था करने को कहा गया। जिला प्रशासन से भी ऑक्सीजन की मांग की गई है। काफी प्रयास के बाद मंगलवार सुबह अपने खाली सिलेंडर लेकर गए तो 30 सिलेंडर मिले हैं। जो कुछ घंटे ही चल पाएंगे।

जरूरी दवाओं का संकट भी बरकरार

उन्होंने कहा कि दूसरे जिले से ऑक्सीजन की व्यवस्था अपने स्तर से कर रहे हैं। ऑक्सीजन के कमी के  कारण अगले तीन दिन नए मरीज को नहीं लेने की सूचना लगाई गई है। उन्होंने बताया कि मरीजों के लिए अति आवश्यक फेवीफ्लू व रेमडेसिविर इंजेक्शन भी नहीं मिल रहा है। एक मरीज को 6 इंजेक्शन चाहिए। उधर, स्वजन अपने मरीजों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं।