पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Coronavirus Update News: बिहार में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों और अस्पतालों में बेड की कमी को लेकर आ रहे समाचारों के बीच सरकार अब मेडिकल कॉलेज अस्पताल, कोविड केयर सेंटर, डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में बेड की उपलब्धता की जानकारी साॅफ्टवेयर के जरिए देगी। यह जानकारी राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने दी। इसको लेकर मांग लगातार हो रही है। पिछले दिनों एक प्रेस वार्ता में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मौजूद स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय के सामने भी यह मसला आया था। तब मंत्री ने कहा था कि उनका विभाग इस पर काम कर रहा है। अस्‍पतालों में बेड उपलब्‍ध रहते मरीजों को भर्ती नहीं करने का आरोप लगता रहा है। अगर सरकार का सॉफ्टवेयर आम लोगों तक जानकारी उपलब्‍ध कराने लगे तो यह समस्‍या नहीं रहेगी।

मेडिकल कॉलेजों में अभी भी 40 फीसद बेड खाली

मनोज कुमार ने बताया कि राज्य के मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में 2399 बेड में 1364 भरे हुए हैं। डेडिकेटेड अस्पताल में 5671 बेड में साढ़े तीन हजार से ज्यादा बेड खाली है। कोविड केयर सेंटर में भी साढ़े 12 हजार से अधिक बेड हैं, जिनमें से साढ़े छह सौ भरे हुए हैं, शेष रिक्त हैं। कुछ जिलों में बेड को लेकर अवश्य दबाव है। इस समस्या का समाधान जल्द होगा। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग एक साफ्टवेयर बना रहा है जो दो-तीन दिन में काम करने लगेगा। इसकी मदद से आम लोग अस्पताल और उसमें खाली बेड की जानकारी हासिल कर सकेंगे साथ ही यह भी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे कि कितने बेड ऑक्सीजन युक्त हैं और कितने आइसीयू युक्त।

आर्मी की दो टीमें ईएसआइ अस्पताल बिहटा में तैनात

मनोज कुमार ने बताया कि बिहटा के ईएसआइ अस्पताल में आर्मी की दो टीमों ने मोर्चा संभाला हुआ है। यहां फिलहाल 50 बेड कोरोना संक्रमितों के लिए रिजर्व हैं। इसके अलावा सरकार अन्य समाजसेवी संस्थाओं से भी संपर्क कर रही है ताकि यहां पांच सौ बेड कोविड मरीजों के लिए चालू किए जा सकें।