पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Coronavirus Update News: बिहार में कोरोना वायरस का संक्रमण हर दिन नए रिकॉर्ड बना रहा है। मंगलवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, पीएमसीएच के लगभग 110 डॉक्टर-स्वास्थ्य कर्मी समेत राजधानी में 2186 नए संक्रमित मिले। पटना के चार बड़े मेडिकल कॉलेजों में 17 मरीजों की मौत हो गई। बीते एक सप्ताह में जिला स्वास्थ्य समिति के अधीन पटना जिले में कोरोना जांच व इससे संबंधित कार्य में जुटे एक सौ से अधिक स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित हो चुके हैं। इसके कारण राजधानी में कोरोना को लेकर चल रहे बचाव व अन्य कार्य की रफ्तार भी धीमी हो गई। मंगलवार को एम्स में चार, पीएमसीएच में छह, एनएमसीएच में सात मरीजों की मौत हो गई। सभी कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे।

  • एम्स, आइजीआइएमएस, पीएमसीएच के डॉक्टर समेत 2186 संक्रमित, 17 की मौत
  • राजधानी में कोरोना संक्रमण की जांच व बचाव कार्य में जुटे 100 स्वास्थ्य कर्मी भी संक्रमित

स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में 50 बेड जल्द

इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस स्थित स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में इसी सप्ताह 50 बेड का नया कोविड वार्ड आरंभ होगा। इसके लिए कवायद तेजी से की जा रही है। नोडल अधिकारी डॉ. कृष्ण गोपाल ने बताया कि नए कोविड वार्ड को लेकर तेजी से प्रक्रिया चल रही है। इसके बनने से 50 और कोविड मरीजों को भर्ती किया जा सकेगा। वहीं, स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक और आइसोलेशन सेंटर बनाने को लेकर जगह चिन्हित करने की कवायद की जा रही है। इस सेंटर पर डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति के साथ-साथ पर्याप्त ऑक्सीजन की व्यवस्था रहेगी।

मेदांता अस्‍पताल में नहीं खुला कोविड अस्‍पताल

बिहार सरकार और पटना जिला प्रशासन की तमाम कोशिशों के बावजूद मेदांता अस्‍पताल में कोविड मरीजों का इलाज नहीं शुरू हो पा रहा है। इसके लिए खुद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की पहल का भी अब तक कोई असर नहीं दिख रहा है। इस अस्‍पताल के लिए राज्‍य सरकार ने काफी कम कीमत पर जमीन लीज पर दे दी थी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप