राज्य ब्यूरो, पटना: बिहार में जून तक 1.1 करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करने के लिए सरकार ने व्यापक कार्ययोजना बनाई है। अब रोजाना करीब ढाई लाख लोगों को टीके की डोज दी जाएगी। टीकाकरण का यह अभियान पंचायत स्तर पर चलेगा। होली के बाद अभियान शुरू होगा। इसमें समाज कल्याण विभाग के साथ पंचायत प्रतिनिधियों की भी मदद ली जाएगी।

टीकाकरण के आंकड़े

* कुल टीकाकरण - 18,69,906

* एक डोज लेने वाले - 14,88,289

* दो डोज लेने वाले  -  3,81,617

* 60 से ज्यादा उम्र के लोग - 7,15339

* 45-60 आयु के बीमार - 1,15,245

तीसरे चरण के टीकाकरण की हुई थी समीक्षा

दरअसल, राज्य स्वास्थ्य समिति ने जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के मार्फत तीसरे चरण के टीकाकरण की समीक्षा की थी। उसी दौरान तय हुआ कि जून तक 1.1 करोड़ का लक्ष्य हासिल करने के लिए टीकाकरण की गति बढ़ानी होगी। अभी रोजाना 65 से 75 हजार लोगों का टीकाकरण हो रहा है। 

ढाई लाख लोगों के टीकाकरण पर बनी थी सहमति

राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार के अनुसार लक्ष्य प्राप्ति के लिए रोजाना कम से कम ढाई लाख लोगों के टीकाकरण पर सहमति बनी थी। एक दिन में ढाई लाख या इससे अधिक लोगों को तभी टीका लगाया जा सकता है, जब पंचायतवार लक्ष्य निर्धारित किया जाए। तय हुआ कि प्रति पंचायत रोजाना 30 लोगों को टीका दिया जाए। बिहार में अभी तकरीबन 83 सौ पंचायतें हैं। इस हिसाब से रोजाना 2.49 लाख लोगों का टीकाकरण हो सकेगा। बता दें कि बिहार में कोरोना को लेकर चिंता एक बार फिर बढ़ गई है। जिन राज्यों में मामले शून्य थे वहां से एक्टिव मरीज सामने आने लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार राजधानी पटना में फिर अधिक मरीज मिलने लगे हैं। एक दिन पहले की बात करें तो पटना में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित मिले थे।