राज्य ब्यूरो, पटना: बिहार में कोरोना संक्रमण को देखते हुए बिहार कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने एक आदेश जारी करते हुए राज्य मुख्यालय सदाकत आश्रम सहित पूरे राज्य के जिला कार्यालय बंद करा दिए हैं। कार्यालय अनिश्चितकाल के लिए बंद किए गए हैं। डॉ. झा ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में सरकारी उदासीनता और प्रशासनिक विफलताओं के कारण स्थिति बेहद विकराल हो गई है।

केवल आवासीय कर्मचारियों के ही रहने की अनुमति

बिहार कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि प्रदेश में जब तक स्थितियां सामान्य नहीं होंगी, तब तक कांग्रेस के प्रदेश से लेकर जिला मुख्यालयों को अनिश्चितकाल तक बन्द करने का फैसला लिया गया है। सदाकत आश्रम में केवल आवासीय कर्मचारियों के ही रहने की अनुमति रहेगी। बिहार कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कोरोना की भयावह एवं घातक परिस्थिति को समझ रही है और सरकार की अकर्मण्यता को देखते हुए उसने ये फैसला लिया है। साथ ही आम जनता से अपील की है कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप में अपने और परिवार की सुरक्षा का विशेष ख्याल रखें।

कांग्रेस नीतीश सरकार पर हमलावर

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी बिहार में कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर नीतीश कुमार सरकार पर लगातार हमलावर हो रही है। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा ने एक दिन पहले कहा था कि पटना के साथ ही बिहार के तमान अस्पताल ऑक्सीजन और बेड की कमी से जूझ रहे हैं। कोरोना पॉजिटिव मरीज भगवान भरोसे अपनी जान की खैर मना रहे हैं। अजीत शर्मा ने कहा कि राज्य की भाजपा-जदयू सरकार के मुखिया नीतीश कुमार को इससे फर्क नहीं पड़ता। बिहार में अघोषित इमरजेंसी के हालात हैं। मीडिया तक से सच्चाई छिपाई जा रही है। सरकार इस महामारी को रोकने में पूरी तरह विफल रही है। जनता के सुख-दुख से सरकार का कोई सरोकार नहीं है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप