पटना, जेएनएन। देश भर में ईवीएम को लेकर जारी विवाद के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि जब हर बूथ पर वीवीपैट (वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल) होगा, तब ईवीएम बिल्कुल सही है, और उसमें कोई समस्या नहीं होगी... मैं उन बातों से सहमत नहीं हूं, जो ईवीएम के बारे में कही जा रही हैं। ईवीएम ने लोगों के मताधिकार को मज़बूती दी है। 

सीएम नीतीश ने कहा कि ईवीएम से वोटिंग आज के समय की मांग है और ईवीएम के आने से बूथ कैपचरिंग खत्म हुआ है और वोटिंग के दौरान माहौल भी शांतिपूर्ण रहता है। उन्होंने कहा कि पहले जब बैलेट पेपर पर वोटिंग होती थी तो बोगस वोट पड़ते थे साथ ही बूथ भी लूटे जाते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है।

वहीं, विपक्षी पार्टियों की मांग है कि वोटिंग फिर से बैलेट पेपर पर ही करायी जाए। इसके समर्थन में 17 दल साथ आए हैं और सभी इस बारे में चुनाव आयोग के पास जाने वाले हैं। उनका कहना है कि इस बार लोकसभा में वोटिंग मतपत्र से कराया जाए, ना कि ईवीएम से। वहीं एनडीए ने इसपर करारा तंज कसा है और कहा है कि इनकी हार तय है इसीलिए ये नए-नए बहाने ढूंढ रहे हैं।

बता दें कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन, ईवीएम हैकिंग को लेकर अमेरिकी एक्सपर्ट के दावे के बाद से देश भर में विपक्ष इस मशीन पर सवाल खड़े कर रहा है। इसपर आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 'कल लंदन में सर्कस हुआ था और यह कांग्रेस की तरफ से प्रायोजित पॉलिटिकल स्टंट था।

उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य भारत और चुनाव आयोग को बदनाम करना था।' उन्होंने आगे सवाल किया, 'लंदन में जो कार्यक्रम हुआ उसमें कपिल सिब्बल क्या कर रहे थे? उनकी वहां क्या भूमिका थी? 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप