पटना, जेएनएन। बिहार कैबिनेट की बैठक शुक्रवार को हुई। इसमें 12 प्रस्‍तावों पर कैबिनेट ने अपनी स्‍वीकृति दी। इसमें एससी/एसटी स्‍टूडेंट्स के लिए बड़ा फैसला लिया गया। बैठक की अध्‍यक्षता सीएम नीतीश कुमार ने की। मिल रही प्रारंभिक जानकारी के अनुसार राज्‍य में एससी/एसटी के लिए आवासीय स्‍कूल खोले जाएंगे। पूरे राज्‍य में ऐसे आधा दर्जन स्‍कूल खोले जाने पर कैबिनेट ने स्‍वीकृति की मुहर लगा दी है। इसके लिए 306 करोड़ की राशि को मंजूरी मिली है। कैबिनेट ने भूमि विवाद को देखते सरकार ने जमाबंदी कानून को मंजूर किया। 

मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कैबिनेट के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि एससी/एसटी के लिए प्रस्तावित आवासीय विद्यालयों में चार अनुसूचित जाति और दो अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिए होंगे। संजय कुमार ने बताया कि विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग के प्रस्ताव पर विमर्श के बाद राजकीय अभियंत्रण और पॉलीटेक्निक व महिला पॉलीटेक्निक में काम करने वाले शिक्षकों को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) द्वारा अनुशंसित वेतनमान देने का मंत्रिमंडल ने फैसला किया है। शिक्षकों को यह लाभ एक जनवरी 2016 के प्रभाव से दिया जाएगा।

मंत्रिमंडल ने भवन निर्माण विभाग में समायोजन के आधार पर नियमित रूप से नियुक्त इंजीनियरों को सुनिश्चित वृत्ति उन्नयन का लाभ देने का प्रस्ताव भी स्वीकृत किया है। जबकि जिला ग्रामीण विकास अभिकरण प्रशासन को राज्यांश मद से वेतन देने का प्रस्ताव भी मंत्रिमंडल ने स्वीकृत किया है। गृह विभाग के प्रस्ताव पर मंत्रिमंडल ने बिहार पुलिस क्षेत्रीय लिपिकीय संवर्ग नियमावली 2019 के गठन को भी मंजूरी दी है। 

सरकार ने कर्तव्य के दौरान मारे गए शिक्षक के परिजनों को तीस लाख देने का फैसला किया है। कैबिनेट के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान सहायक शिक्षक शिवेंद्र कुमार की मौत हो गई थी। सरकार ने विशेष परिस्थितियों को देखते हुए मृतक की पत्नी कंचन कुमार को 30 लाख रुपये देने का प्रस्ताव मंजूर किया है।  

पटना में गुरु गोविंद सिंह महाराज के 350 वीं जयंती के अवसर पर बहुद्देशीय प्रकाश केंद्र एवं उद्यान जिसका नाम अब प्रकाश पुंज हो गया, के निर्माण के लिए राज्य सरकार ने 28.72 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। इस परियोजना की कुल लागत 54.16 करोड़ रुपये है। इस निर्माण कार्य को नवंबर में खत्म करने का लक्ष्य है। प्रकाश पुंज के निर्माण पर अब तक 24.79 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। जिसका उपयोगिता प्रमाण पत्र भी केंद्र सरकार को भेजा जा चुका है, लेकिन केंद्र ने अब तक दूसरी किस्त की राशि नहीं दी है। जिसके बाद आज नीतीश मंत्रिमंडल ने बिहार आकस्मिकता निधि से 28.72 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। 

प्रमुख एजेंडे  

  • SC-ST  के बनेंगे 6 आवासीय विद्यालय। इसमें SC के लिए 4 और ST के लिए 2 विद्यालय होंगे। 720 बेड वाले इन स्कूलों के निर्माण पर 306 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। चालू वित्तीय वर्ष में 91 करोड़ रिलीज करने पर कैबिनेट की मुहर।
  • बिहार रजिस्ट्री नियमावली 2019 में संशोधन। बिहार पुलिस क्षेत्रीय लिपिक संवर्ग नियमावली 2019 का गठन।
  • सहायक शिक्षक शिवेंद्र किशोर पाठक के परिजनों को मिलेंगे 30 लाख रुपए। लोकसभा चुनाव के दौरान हुई थी मृत्यु।
  • प्रकाश पर्व के लिए 28.72 करोड़ रुपए। गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 350वीं जयंती पर खर्च हुई थी राशि।
  • आम जनता अब अपनी जमीन को जमाबंदी कायम होने के बाद ही उस जमीन को हस्तांतरित कर सकेगी या बेच सकेगी। भूमि विवाद को देखते सरकार ने जमाबंदी कानून को मंजूर किया। 
  • विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग के प्रस्ताव पर विमर्श के बाद राजकीय अभियंत्रण और पॉलीटेक्निक व महिला पॉलीटेक्निक में काम करने वाले शिक्षकों को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) द्वारा अनुशंसित वेतनमान देने का फैसला। शिक्षकों को यह लाभ एक जनवरी 2016 के प्रभाव से दिया जाएगा। 
  • भवन निर्माण विभाग में समायोजन के आधार पर नियमित रूप से नियुक्त इंजीनियरों को सुनिश्चित वृत्ति उन्नयन का लाभ देने का प्रस्ताव भी स्वीकृत। 
  • जिला ग्रामीण विकास अभिकरण प्रशासन को राज्यांश मद से वेतन देने का प्रस्ताव को भी मंजूरी।
  • गृह विभाग के प्रस्ताव पर बिहार पुलिस क्षेत्रीय लिपिकीय संवर्ग नियमावली 2019 के गठन को भी मंजूरी।
  • मृत शिक्षक के परिजनों को 30 लाख मिलेंगे। सरकार ने कर्तव्य के दौरान मारे गए शिक्षक के परिजनों को तीस लाख देने का फैसला किया है। लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान सहायक शिक्षक शिवेंद्र कुमार की मौत हो गई थी। सरकार ने विशेष परिस्थितियों को देखते हुए मृतक की पत्नी कंचन कुमार को 30 लाख रुपये देने का प्रस्ताव मंजूर किया है।

 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप