पटना [जेएनएन]। इंटर की परीक्षा मंगलवार को शुरू होने के डेढ़ घंटे बाद ही जीव विज्ञान का प्रश्नपत्र वाट्सएप और सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। नवादा के किसी केंद्र से वायरल होने की जानकारी बोर्ड अधिकारियों को मिली है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि प्रश्नपत्र सुबह 11:30 बजे के बाद वायरल हुआ है, जबकि परीक्षा सुबह 9:45 बजे प्रारंभ हुई है। इसलिए परीक्षा रद करने का कोई आधार नहीं है।

कुछ असमाजिक तत्व पिछले कुछ वर्षों से परीक्षा प्रारंभ होने के बाद प्रश्न पत्रों को वायरल कर अभिभावक और परीक्षार्थियों को भ्रमित करते हैं। इनकी पहचान कर संबंधित जिलाधिकारियों को प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि पहले दिन सूबे के सभी 1384 केंद्रों पर परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से परीक्षा संपन्न कराई गई।

डीएम की जांच रिपोर्ट पर होगी कार्रवाई

बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि प्रश्न पत्र को वायरल करने में किसी कर्मी, शिक्षक या अधिकारी की संलिप्तता जांच में उजागर होती है तो प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। यदि किसी के वाट्सएप पर कोई प्रश्न पत्र आता है तो उसे आगे नहीं बढ़ाएं। उसे शेयर करने वाले भी दोषी माने जाएंगे।

चार सेट वायरल, एक के मिले प्रश्न

प्रश्नपत्र चार सेट वायरल हुए थे। इसमें एक सेट के प्रश्न परीक्षा में पूछे गए सवाल से हूबहू मिले। कई अभिभावकों ने वायरल प्रश्न पत्र की जानकारी बिहार बोर्ड के कंट्रोल रूम को दी।

पिछले कुछ वर्षों से असामाजिक तत्व परीक्षा प्रारंभ होने के डेढ़-दो घंटे बाद प्रश्नपत्र को वायरल कर अभिभावक और विद्यार्थियों को भ्रमित करते हैं। जिलाधिकारी और वरीय पुलिस अधीक्षक को असमाजिक तत्वों को चिह्नित कर कार्रवाई करने को कहा गया है।

- आनंद किशोर, अध्यक्ष, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति।

Posted By: Kajal Kumari