राज्य ब्यूरो, पटना। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने गुरुवार को कहा कि नीतीश के आश्रम निर्माण में उनकी पार्टी पूरा सहयोग देगी। राजद साथ दे या न दे, भाजपा 2025 में दो तिहाई बहुमत के साथ सत्ता में आने के बाद भी उनके आश्रम का पूर्णरूप से ख्याल रखेगी। उन्होंने कहा कि शिवानंद तिवारी ने नीतीश के भविष्य को लेकर राजद के प्लान का खुलासा कर दिया है। राजद-जदयू के आपसी प्रेम और वफादारी के इतिहास देखते हुए यह तय है कि 2024 के बाद नीतीश के पास आश्रम में धूनी रमाने के अलावा कोई अन्य काम नहीं बचने वाला। संजय ने कहा कि जदयू के कई अधिकांश नेताओं का आत्मसम्मान अभी बचा है, ऐसे कार्यकर्ता अमित शाह की रैली में आएं। 

यह भी पढें: बैंक के अंदर ग्राहक से लूट हो जाए तो भरपाई कौन करेगा...सभी खाताधारकों को जरूर जानना चाहिए

कार्यकर्ताओं के साथ हमारी पूरी सहानुभूति

उन्होंने कहा कि पीएम बनने के फेर में नीतीश भले ही राजद-कांग्रेस के समक्ष घुटने टेक चुके हों, लेकिन इसने उनके कार्यकर्ताओं को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है। दशकों तक राजद की लाठी और गाली खा-खाकर संघर्ष करने वाले उनके कार्यकर्ताओं को आज अपने नेतृत्व पर लज्जा आ रही होगी। जदयू के जमीनी कार्यकर्ताओं को आज जनता के सामने जाने में भी शर्म आ रही होगी। उसपर से नीतीश ने तेजस्वी को उत्तराधिकारी मान कर जिस तरह से राजद में विलय के संकेत दिए हैं, उससे उनके कार्यकर्ताओं के साथ हमारी पूरी सहानुभूति है।

Koo App

चलें पूर्णिया, चलें पूर्णिया! #BiharWelcomesAmitShahJi #JanBhawnaSabha #जनभावनासभा

- Dr. Sanjay Jaiswal (@Dr.SanjayJaiswal) 22 Sep 2022

अमित शाह की जनसभा में आएं

डा. जायसवाल ने कहा कि पीएम बनने के लिए नीतीश भले ही अपनी ‘अंतरात्मा’ को मार चुके हैं, लेकिन उनके अधिकांश नेताओं का 'आत्मसम्मान' अभी भी जिंदा है। इनका जमीर कभी भी तेजस्वी को अपना नेता नहीं मान सकता। जदयू के ऐसे सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को हमारा निमंत्रण है कि कल पूर्णिया में आयोजित गृहमंत्री अमित शाह की विशाल जनसभा में अवश्य आएं। भाजपा विचारधारा पर बनी हुई और कार्यकर्ताओं की पार्टी है। दशकों तक कंधे से कंधा मिलाकर काम करने के कारण जदयू के कार्यकर्ताओं का दर्द हमसे बेहतर कोई और नहीं समझ सकता। इस जनसभा में उन सभी का मान-सम्मान पहले के समान ही बरकरार रहेगा ।

यह भी पढें: बिहार के बगहा में मिली विचित्र मछली, चार आंखें और शरीर पर बाघ जैसी धारियां

Edited By: Akshay Pandey