पटना, जेएनएन। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या भले ही बढ़ रही हो, लेकिन ठीक होने वालों का अनुपात भी मिलने वाले नए पॉजिटिव से कम नहीं। सिर्फ सोमवार की बात करें तो बिहार में 3021 नए पॉजिटिव मिले तो एक दिन में 2824 ठीक भी हुए हैं। इस लिहाज से कहा जा सकता है कि सिर्फ 176 नए एक्टिव केस एक दिन में मिले।

इन राज्यों से बिहार की औसत है बेहतर

मरीजों के ठीक होने की इसी रफ्तार ने बिहार को पड़ोसी राज्य झारखंड और उत्तर प्रदेश से बेहतर स्थिति में ला दिया है। अलबत्ता राष्ट्रीय औसत और कुछ पड़ोसी राज्य जैसे महाराष्ट्र, दिल्ली, बंगाल से जरूर बिहार रिकवरी रेट में थोड़ा पीछे है। परन्तु स्वास्थ्य विभाग को उम्मीद है कि 10 दिनों के अंदर बिहार का रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत तक पहुंच सकता है। डालते हैं पड़ोसी राज्य में अब तक मिले संक्रमित, ठीक हुए लोगों की संख्या रिकवरी रेट और अब तक हुए टेस्ट पर।  

 

राज्य         पॉजिटिव    ठीक हुए     रिकवरी रेट         टेस्ट 

महाराष्ट्र     5,15332     351710      68.29 फीसद      27,76,849

दिल्ली      1,46134     1,31657      90.09 फीसद     12,04,405

प. बंगाल   95,554       67,120       70.24 फीसद     11,05,899 

उत्तरप्रदेश  1,26722      76,724       60.54 फीसद     32,09,587 

झारखंड    18156        8,998         49.55 फीसद     3,80,330 

बिहार       82741       54,139        65.43 फीसद     10,97,252

----

* राष्ट्रीय   22,34,294   15,51,816     69.45 फीसद    2,45,83,558  

लॉकडाउन के वाबजूद बढ़ रही वायरस की चेन

इधर, बिहार में कोरोना के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे। भले ही रिकवरी रेट बेहतर हो फिर भी लॉकडाउन के बावजूद रोजोना तीन से चार हजार संक्रमितों के मिलने का सिलसिला जारी है। राज्य में मरीजों का कुल आंकड़ा 82 हजार के पार हो गया है। पटना में सबसे ज्यादा 13 हजार से अधिक संक्रमित हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस