पटना, जेएनएन। Bihar Assembly Elections 2020: बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ राजनी‍तिक दल इसकी तैयारियों मेंं जुट गए हैं। चुनाव मैदान में पुराने दिग्‍गजों के बीच कुछ युवा चेहरों पर भी नजरें टिकी हुई हैं। ये युवा चेहरे सत्‍ताधारी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) व विपक्षी महागठबंधन (Grand Alliance) दोनों तरफ हैं। एनडीए में लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) अध्‍यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) हैं तो महागठबंधन (Mahagathbandhan) में राष्‍ट्रीय जनता दल  (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के दोनों बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) व तेजस्‍वी यादव (Tejaswi Yadav)। बिहार की राजनीति में एंट्री लेने वाली पुष्‍पम प्रिया चौधरी (Pushpam Priya Choudhary) की भी चर्चा है। तेज प्रताप यादव के खिलाफ ताल ठोकने को तैयार उनकी पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) भी चर्चा में रहेगी, इसकी पूरी उम्‍मीद है।

तेजस्‍वी यादव: महागठबंधन का सीएम चेहारा, लालू के उत्‍तराधिकारी

बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों पर खास नजर रहेगी। लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष (Leader of Oppostion) हैं। आरजेडी उनके नेतृत्‍व में ही चुनाव लड़ रहा है। तेजस्वी को आरजेडी में लालू प्रसाद यादव का उत्तराधिकारी भी माना जाता है। आरजेडी ने उन्‍हें महागठबंधन का मुख्‍यमंत्री चेहरा (CM Face) घोषित कर रखा है। तेजस्वी यादव बीते विधानसभा चुनाव में राघोपुर सीट से विधायक बने थे। बिहार की महागठबंधन की सरकार में वे उपमुख्यमंत्री (Dy. CM) रह चुके हैं। वे विभिन्‍न मुद्दों पर वर्तमान नीतीश सरकार (Nitish Kumar Government) को घेरते रहे हैं।

तेज प्रताप यादव: पत्‍नी के डर से बदला मैदान, लालू स्‍टाइल बनी पहचान

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव भी चर्चा में हैं। बीते विधानसभा चुनाव में वैशाली के महुआ से जीत कर वे महागठबंधन सरकार में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री (Health Minister) बने। वे खुद को तेजस्‍वी को कृष्‍ण बताते हुए उनकी चुनावी जंग का सारथी कहा है। वे अपने अजब-गजब बयानों (Azab Gazab Statements) व लालू स्‍टाइल राजनीति (Lalu Style Politics) के लिए जाने जाते हैं। इस बार के चुनाव में उन्‍होंने महुआ सीट बदलकर समस्‍तीपुर के हसनपुर से चुनाव लड़ने का फैसला किया है। बताया जाता है कि इसका कारण पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय का डर है। तेज प्रताप यादव तलाक का मुकदमा लड़ रहे हैं और पत्‍नी उन्‍हें चुनावी मैदान में पटखनी देने की कोशिश में हैं।

कन्‍हैया कुमार: पीएम मोदी के विरोध में महागठबंधन का चेहरा

भारतीय कम्‍युनिस्‍ट पार्टी (CPI) के नेता व बीते लोकसभा चुनाव में बेगूसराय सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) से हारे कन्‍हैया कुमार विधानसभा चुनाव के दौरान फिर चर्चा में रहेंगे। कोरोना काल (CoronaVirus Era) में बड़े स्‍तर पर जनसंपर्क तो संभव नहीं, लेकिन कन्‍हैया विपक्षी महागठबंधन की तरफ से चुनाव प्रचार की जिम्‍मेदारी निभाते नजर आएंगे। विपक्ष उन्‍हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Naendra Modi) के खिलाफ बड़ा चेहरा मानता है। उनकी राजनीति भी मोदी विरोध के आसपास घूमती रही है। कन्‍हैया छात्र राजनीति से राष्‍ट्रीय राजनीति में आए हैं। जवाहर लाल नेहरू विवि का अध्‍यक्ष (JNUSU) रहने के दौरान उनपर देशद्रोह के आरोप लगे हैं। यह मुकदमा कोर्ट में लंबित है।

चिराग पासवान: विस चुनाव में संभाल रहे एलजेपी की पूरी जिम्‍मेदारी

सत्‍ताधारी एनडीए में एलजेपी अध्‍यक्ष व केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के बेटे चिराग

पासवान भी चर्चा में हैं। साल 2014 में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) जीत कर राजनीतिक पारी आरंभ करने वाले चिराग 2019 में दूसरी बार भी सासंद बने। वे एलजेपी के अध्‍यक्ष व पार्टी के संस्‍थापक राम विलास पासवान के उत्‍तराधिकारी हैं। राम विलास पासवान के इन दिनों बीमार होने के कारण विधानसभा चुनाव में एलजेपी की पूरी जिम्‍मेदारी चिराग पासवान के ही कंधों पर है। सीटों के मसले (Seat Sharing) पर वे एनडीए में नाराज चल रहे थे, लेकिन बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ उनकी बातचीत अब नतीजे पर पहुंच रही है।

पुष्‍पम प्रिया चौधरी: खुद को घोषित कर रखा है मुख्‍यमंत्री प्रत्‍याशी

विधानसभा चुनाव में एक और नाम खास चर्चा में है। यह नाम है पुष्पम प्रिया चौधरी का। उन्होंने अपनी पार्टी 'प्लूरल्स' बना कर पूरे बिहार में उम्‍मीदवार उतारने की घोषणा कर रखी है। पुष्पम खुद को मुख्‍यमंत्री प्रत्‍याशी घोषित कर चर्चा में हैं। वे जेडीयू नेता विनोद चौधरी की बेटी हैं।

ऐश्‍वर्या राय: पति तेज प्रताप के खिलाफ मैदान में ठोक सकतीं ताल

विधानसभा चुनाव में लालू परिवार (Lalu Family) की बहू और तेज प्रताप यादव की पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय के भी चर्चा में रहने की उम्‍मीद है। बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री दरोगा राय (Ex CM Daroga Rai) की पोती व पूर्व मंत्री चंद्रिका राय (Chandrka Rai) की बेटी ऐश्वर्या राय से तेज प्रताप यादव तलाक का मुकदमा लड़ रहे हैं। तलाक के इस मुकदमे के कारण लालू व चंद्रिका राय के परिवारों के रिश्‍ते में खटास आ गई है। इसके बाद चंद्रिका राय अब आरजेडी छोड़ कर जनता दल यूनाइटेड (JDU) में हैं। माना जा रहा है कि ऐश्‍वर्या राय पति तेज प्रताप यादव के खिलाफ चुनाव भी मैदान में उतरने जा रहीं हैं। चंद्रिका राय ने भी कहा है कि अगर ऐश्‍वर्या ऐसा फैसला लेती हैं ताे वे उनके साथ हैं। हालांकि, अभी तक इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस