किशनगंज, जेएनएन। भारत-बांग्लादेश सीमा की सुरक्षा में तैनात एक बीएसएफ जवान उत्‍त्‍म सुत्रधर ने अपनी सर्विस रायफल से ताबड़तोड़ फायरिंग कर एक अधिकारी व जवान की जान ले ली। दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मृतकों में 146 वीं बटालियन के कंपनी टूआइसी पंजाब के अमृतसर जिले के महेंद्र सिंह भट्टी और उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के कांस्टेबल अनुज कुमार शामिल हैं। कांस्टेबल उत्तम सूत्रधर गत कुछ दिनों से मानसिक तनाव में था।

घटना से जवानों के बीच बन गया भय व तनाव का माहौल

मालदह खंड बॉर्डर आउटपोस्ट के समीप हुई इस घटना के बाद इलाके में अफरातफरी का माहौल व्याप्त हो गया है। घटना की जानकारी मिलते ही बीएसएफ के वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने 146वीं बटालियन के जवान उत्तम सुत्रधर से सरेंडर कराने की चेष्टा की, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं हो रहा था। उल्टे समझाने के लिए पहुंचे अधिकारियों और साथी जवानों की तरफ सर्विस रायफल तान देता था। इससे कुछ देर तक जवानों के बीच भय व तनाव का वातावरण बना रहा।

आरोपित जवान ने कंपनी कमांडर के समक्ष किया सरेंडर

आखिरकार घंटों के प्रयास के उसने मंगलवार को कंपनी कमांडर संजय कुमार राय के समक्ष सरेंडर कर दिया। इस बीच मारे गए बीएसएफ अधिकारी व जवान के शवों को पोस्टमार्टम के लिए रायगंज अस्पताल भेज दिया गया है।

घटना को लेकर बीएसएफ के डीआइजी ने कही ये बात

बीएसएफ के डीआइजी राजीव रंजन शर्मा ने बताया कि सोमवार की रात को 146वीं बटालियन के जवान उत्तम सुत्रधर तारबंदी के समीप ड्यूटी कर रहा था। उसी दौरान उसने अपनी सर्विस रायफल से दो राउंड फायर कर दी। फायर की आवाज सुनकर निकट ही गश्त कर रहे इंस्पेक्टर महेन्द्र सिंह भट्टी कांस्टेबल अनुज कुमार के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। उन्हें देखते ही उत्तम सुत्रधर ने दोनों पर गोलियों की बौछार कर दीं। उनके सिर और सीने में गोली लगने से घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। डीआइजी ने बताया कि आरोपित जवान से पूछताछ कर घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है। उसके साथी जवानों ने बताया कि आरोपित जवान का कोई विवाद नहीं था, लेकिन बीते कुछ दिनों से वह मानसिक तनाव में था।

Posted By: Amit Alok

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस