अथमलगोला (पटना), संवाद सूत्र। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) के ड्रीम प्रोजेक्‍ट में धांधली करने वाले इंजीनियर को मरने के बाद भी प्रशासन और पुलिस बख्‍शने के मूड में नहीं है। मामला पटना जिले के अथमलगोला प्रखंड का है, जहां तीन साल पहले मर चुके एक सरकारी इंजीनियर पर अनियमितता और गबन की प्राथमिकी दर्ज की गई है। यह प्राथमिकी प्रखंड विकास पदाधिकारी यानी बीडीओ की शिकायत पर दर्ज की गई है। 

इंजीनियर कमलेश कुमार सिंह की 2019 में हुई थी मौत 

अथमलगोला प्रखंड की बहादुरपुर पंचायत में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना में वार्ड संख्या 12 में अनियमितता एवं गबन का मामला दर्ज किया गया। बीडीओ को सूचक बनाते हुए पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की। इस संबंध में थानाध्यक्ष राजीव कुमार सिंह ने बताया कि मामले में बीडीओ की लिखित शिकायत के आधार पर तत्कालीन अभियंता कमलेश कुमार सिंह को आरोपित बनाया गया है, जबकि उनकी मौत वर्ष 2019 में ही हो गयी थी।

मुखिया और वार्ड सदस्‍य पर भी हुई है प्राथमिकी

इसी मामले में तत्कालीन मुखिया अनिल महतो, वार्ड सदस्य, वार्ड क्रियान्वयन समिति के सचिव एवं तत्कालीन पंचायत सेवक के विरुद्ध भी मामला दर्ज किया गया। इसी पंचायत से वार्ड संख्या 9 में भी वार्ड क्रियान्वयन समिति के अध्यक्ष सह वार्ड सदस्य एवं सचिव के विरुद्ध अलग प्राथमिकी प्रखंड कार्यालय के पत्रांक 551 के आलोक में दर्ज की गई है । पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जमीनी विवाद में मारपीट का मामला दर्ज

संसू, अथमलगोला : थाना क्षेत्र के सबनीमा गांव में जमीन विवाद में गोतिया के बीच कहासुनी के बाद मारपीट हुई, जिसमें एक महिला समेत तीन को चोटें आई। घटना के बारे में चन्द्रमौलि सिन्हा एवं दूसरे पक्ष के राजू कुमार ङ्क्षसह ने मुकदमा दर्ज कराया है। इधर इसी गांव में घटित मारपीट के एक मामले में भी तीन लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुटी है । 

Edited By: Shubh Narayan Pathak