मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पटना, जेएनएन। घर से एके 47 और दो हैंड ग्रेनेड बरामदगी मामले में फरार चल रहे बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) ने शुक्रवार को दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया, जिसके बाद उन्हें तिहाड़ जेल भेज दिया गया। शनिवार को दिल्ली के साकेत कोर्ट में पेशी के दौरान अनंत सिंह को ट्रांजिट रिमांड पर लेने पहुंची बाढ़ की एएसपी लिपि सिंह विवादों में फंस गई हैं।

सांसद के स्टिकर लगी गाड़ी से लिपि सिंह पहुंची कोर्ट, मचा बवाल

लिपि सिंह इस संगीन मामले में अनंत सिंह को कोर्ट से ट्रांजिट रिमांड पर लेने के लिए सांसद के स्टिकर लगी गाड़ी से पहुंची, जिसके बाद बवाल मच गया है। अनंत सिंह के समर्थकों और विपक्ष के नेताओं का कहना है कि एेसे संगीन मामले में लिपि सिंह ने जदयू के विधानपार्षद रणवीर नन्दन की सफारी गाड़ी का उपयोग किया था।इस गाड़ी का उपयोग करना यह दर्शाता है कि वो रसूख वाली हैं।

गाड़ी विधानपार्षद की तो सांसद का स्टिकर कैसे लगा 

दरअसल शनिवार को दिल्ली के साकेत कोर्ट में अनंत सिंह को ट्रांजिट रिमांड पर लेने की प्रक्रिया चल रही थी तो एएसपी लिपि सिंह वहां पहुंची। लेकिन लिपि सिंह जेडीयू एमएलसी रणवीर नंदन के एमपी स्टिकर लगे वाहन से कोर्ट पहुंचीं। अब सवाल ये है कि लिपि सिंह किसी जेडीयू नेता की गाड़ी से कोर्ट क्यों गईं? दूसरा यह कि अगर रणवीर नंदन, जो विधान पार्षद हैं, गाड़ी अगर उनके नाम पर है तो फिर उस पर राज्यसभा सांसद का स्टिकर कैसे लगा?

कौन हैं लिपि सिंह, जानिए

विपक्षी नेताओं का ये कहना है कि लिपि सिंह आइपीएस हैं और सरकार ने उन्हें सारी सुविधाएं, सरकारी गाड़ी दी है और अनंत सिंह को वो ट्रांजिट रिमांड पर लेने कोर्ट पहुंची थीं, एेसे में सांसद की गाड़ी से कोर्ट पहुंचना, एेसा उन्होंने क्यों किया? उन्हें इसका जवाब देना चाहिए।

बाहुबली नेता और मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह के साम्राज्य को हिला देने वाली युवा आईपीएस अधिकारी और पटना के बाढ़ अनुमंडल की एडिशनल एसपी लिपि सिंह जदयू के वरिष्ठ नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह की बेटी हैं।  

2016 बैच की आईपीएस अधिकारी लिपि सिंह ने मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए कुछ दिन पहले मोकामा स्थित उनके पैतृक गांव लदमा में छापेमारी की और उनके घर से एक एके-47 राइफल, 22 जिंदा कारतूस और 2 हैंड ग्रेनेड बरामद किया। इसी बरामदगी को लेकर लिपि सिंह ने अनंत सिंह के खिलाफ अनलॉफुल एक्टिविटीज प्रीवेंशन एक्ट (UAPA) के तहत एफआईआर दर्ज करवाया है।

लिपि सिंह आईपीएस बनने के बाद अपने कॅरियर के छोटे से अंतराल में ही विवादों से भी काफी घिरी रही हैं।2019 लोकसभा चुनाव के दौरान अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी की शिकायत पर चुनाव आयोग ने लिपि सिंह का बाढ़ एडिशनल एसपी से तबादला कर आतंक निरोधक दस्ते में कर दिया था। नीलम देवी कांग्रेस के टिकट पर मुंगेर से जदयू उम्मीदवार ललन सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ी थीं और चुनाव में ललन सिंह ने नीलम देवी को हराया था।

चुनाव समाप्त होने के बाद लिपि सिंह एक बार फिर से बाढ़ एडिशनल एसपी के पद पर पदस्थापित कर दी गई थीं। दूसरी बार बाढ़ के एडिशनल एसपी का पदभार संभालने के बाद ही लिपि सिंह ने अनंत सिंह के साम्राज्य के खिलाफ हल्ला बोल दिया है।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप