जागरण टीम, पटना। बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र के समापन पर असदुद्दीन ओवैसी की आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के विधायक ने राष्ट्रगीत वंदे मातरम गाने से इनकार कर दिया। सत्र की शुरुआत इसबार राष्ट्रगान के साथ की गई थी। शुक्रवार को समाप्ति पर जब राष्ट्रगीत गाया जाने लगा तो विधायक अख्तरुल ईमान ने इसका विरोध किया। मामले में बीजेपी विधायक हरि भूषण ठाकुर बचौल ने कहा है कि एमएलए की हरकत देशद्रोह की श्रेणी में आती है। विधानसभा अध्यक्ष को एआइएमआइएम विधायक के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। बचौल ने कहा कि जबभी सत्र चलेगा विधायक को विधानसभा में रुकने नहीं देंगे। 

थोपी जा रही है 'वंदे मातरम' गाने की परंपरा

इस मुद्दे पर मीडिया से बात करते हुए एआइएमआइएम विधायक अख्तरुल ईमान ने कहा कि राष्ट्रगीत 'वंदे मातरम' गाने की परंपरा बिहार विधानसभा में थोपी जा रही है। यह किसी की मजाल नहीं कि मुझे गाने को मजबूर करे। 'वंदे मातरम' गाने में मुझे समस्या है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रगीत नहीं गाने वाला देशद्रोही नहीं है। विधायक ने कहा कि संविधान में कहीं नहीं लिखा है कि राष्ट्रगीत गाना जरूरी है। देश के सभी वर्गों को एक नजर से देखना ठीक नहीं है। अख्तरुल ने कहा कि मैं वंदे मातरम न गाता हूं और न ही गाऊंगा।  

भारत का विभाजन करना चाहते हैं ऐसे लोगः भाजपा

हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी के विधायक के राष्ट्रगीत नहीं गाने पर बीजेपी ने पटलवार किया। भाजपा विधायक हरि भूषण ठाकुर बचौल ने कहा कि ये लोग खाते यहीं का हैं पर गीत नहीं गाएंगे। भारत के अन्य से पलने वाले, यहीं की नदियों से पानी पीने वाले ऐसे लोग जिहादी मानसिकता के हैं। बचौल ने कहा कि इस्लामिक मानसिकता के ये लोग भारत का विभाजन करना चाहते हैं। बीजेपी विधायक ने कहा कि अख्तरुल ईमान पर विधानसभा अध्यक्ष को कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब भी विधानसभा सत्र चलेगा भाजपा उन्हें परिसर में रुकने नहीं देगी। 

Edited By: Akshay Pandey