पटना [जेएनएन]। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने आज हाइप्रोफाइल सेक्स स्कैंडल में फंसे बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष की गिरफ्तारी के आदेश जारी किए हैं। ब्रजेश पांडेय पर  पूर्व कांग्रेस नेता की बेटी ने यौन शोषण का आरोप लगाया है, जिसके बाद वे फरार चल रहे हैं। मामले पर आज कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए उन्हें गिरफ्तार करने के आदेश दिए हैं।

आदेश पत्र में कहा गया है कि कोर्ट में बार-बार उन्हें उपस्थित होने को कहा गया लेकिन वे उपस्थित नहीं हुए। इसपर कार्रवाई करते हुए उनके खिलाफ चल रहे मामलों के अवलोकन के पश्चात यह आदेश जारी किया गया है। 

कांग्रेस नेता की बेटी ने ब्रजेश पांडेय पर यौनशोषण का आरोप लगाया है और इस वारदात में उसने एक पूर्व आइएएस के बेटे निखिल प्रियदर्शी को मुख्य आरोपी बनाया है। आरोपों के बाद ब्रजेश पांडे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

पीड़ित लड़की ने कहा है कि ना उसे सिर्फ ब्लैकमेल कर यौन शोषण किया गया, बल्कि उसे प्रताडित भी किया गया है। उसका आरोप है कि ब्रजेश पांडे और निखिल प्रियदर्शी सेक्स रैकेट चलाते हैं। उसमें बिहार के कई रसूखदार नेता और ब्यूरोक्रेट भी शामिल हैं। पुलिस ने इस मामले में एसआईटी गठित कर जांच शुरू की है, जिसके बाद निखिल प्रियदर्शी और उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है।  

यह भी पढ़ें: जहानाबाद में बोले सीएम नीतीश- मैं जो बोलता हूं, मैं वो करता हूं

पीड़िता ने बताया कि निखिल प्रियदर्शी से व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिए उसकी जान-पहचान हुई थी। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत होने लगी। एक दिन निखिल उसे ब्रजेश पांडे के पास भेजा। वह उसे उनके बोरिंग रोड एक फ्लैट में ले गया था। वहां कोल्ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पीला दिया. इसके बाद उसको कोई होश नहीं था।

उसने बताया कि उसके नशे में आने के बाद ब्रजेश पांडे ने उसके प्राइवेट पार्ट को टच किया। परिवार के लोग में निखिल के पिता औऱ भाई भी शामिल थे। वे सभी सेक्स रैकेट चलाते है, उसको भी सप्लाई करने के लिए दबाव बना रहे थे।

यह भी पढ़ें: तेजाब कांड में चंदा बाबू के खिलाफ कोर्ट ने जा‍री किया वारंट, जानिए

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस