पटना। बिहार के पांच विधानसभा क्षेत्रों के लिए हो रहा उपचुनाव भी दागदार प्रत्याशियों की धमक से बच नहीं सका। उपचुनाव में भाग्य आजमा रहे 43 प्रत्याशियों में से 21 के दामन पर दाग हैं। 14 प्रत्याशियों पर तो गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म एवं बिहार इलेक्शन वाच द्वारा जारी रिपोर्ट में इस आशय की जानकारी दी गई है।

उप चुनाव में बेलहर विधान सभा क्षेत्र से चार, नाथनगर से 14, किशनगंज से आठ, सिमरी बख्तियारपुर से छह और दरौंदा से 11 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। नाथनगर में सर्वाधिक नौ दागदार प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। यहां से निर्दलीय राजीव यादव, अशोक कुमार, पवन कुमार साह, मंजर आलम, अभय कुमार, राजद की रबिया खातून, हम के अजय कुमार राय, राष्ट्रीय समता पार्टी के रंजन कुमार सिंह और सीपीआइ के सुधीर शर्मा पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। दागदार प्रत्याशियों में दरौंदा दूसरे नंबर पर है। दरौंदा से सात दागदार प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। यहां से निर्दलीय व्यास सिंह, विजय कुशवाहा, संजय प्रजापति, शारदा रमण के साथ ही राजद के उमेश कुमार सिंह, जेडीयू के अजय कुमार सिंह और सीपीआइ- एमएल के जय शंकर पंडित के खिलाफ मामले दर्ज हैं। सिमरी बख्तियारपुर और किशनगंज से दो-दो दागी प्रत्याशी चुनाव में कूदे हुए हैं। सिमरी बख्तियारपुर से चुनाव लड़ रहे राजद के जफर आलम और अखिल भारतीय मिथिला पार्टी के उमेश चंद भारती पर मामले दर्ज हैं। किशनगंज के निर्दलीय प्रत्याशी तसीरूद्दीन और हसम नजीर पर आपराधिक मामले हैं। बेलहर के राजद प्रत्याशी रामदेव यादव का दामन भी दागदार है।

रिपोर्ट के अनुसार किशनगंज से चुनाव लड़ रहीं भाजपा प्रत्याशी स्वीटी सिंह सर्वाधिक धनी हैं। इनकी कुल संपत्ति 19 करोड़, 19 लाख, 19 हजार 423 रुपये है। किशनगंज से ही भाग्य आजमा रहीं कांग्रेस प्रत्याशी सायदा बानो दूसरी सबसे अमीर प्रत्याशी हैं। इनके पास आठ करोड़ 85 लाख एक हजार 61 रुपये की संपत्ति है। दरौंदा के निर्दलीय प्रत्याशी व्यास सिंह के पास छह करोड़ 23 लाख 41 हजार 787 रुपये की संपत्ति है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस