पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। राज्य के 8 लाख 58 हजार 403 छात्र-छात्राओं ने पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप (Post Matric Scholorship) के लिए आनलाइन आवेदन किया। इनमें वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए 1 लाख 83 हजार 193 एवं वित्त वर्ष 2021-22 के लिए तीन लाख 23 हजार 366 और वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 3 लाख 51 हजार 844 विद्यार्थियों के आवेदन आए हैं। छात्र-छात्राओं की कठिनाई को देखते हुए 30 नवंबर तक आवेदन करने की तिथि बढ़ा दी है। पहले 31 अक्टूबर तक आवेदन की अवधि तय थी। 

2019-20 एवं 20-21 के लिए 15 नवंबर तक का समय 

पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के सचिव पंकज कुमार ने बुधवार को बताया कि छात्र-छात्राओं की सुविधा के लिए पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप पोर्टल (pmsonline.bih.nic.in) पर वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 के विद्यार्थी 15 नवंबर तक आवेदन कर सकते हैं। वर्ष 2021-22 के विद्यार्थी 30 नवंबर तक कर सकते हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना के तहत कक्षा 11 एवं कक्षा 12 और डिप्लोमा, डिग्री एवं पोस्ट ग्रेजुएट स्तर का मेडिकल, इंजीनियरिंग, प्रबंधन एवं अन्य प्रवेशिकोत्तर पाठ्यक्रम में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति देने का प्रविधान है। 

अभ्यर्थी की अर्हता

  • राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए
  • अत्यंत पिछड़ा वर्ग के कोटि का सदस्य होना चाहिए
  • सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 2021 में उत्तीर्ण होना चाहिए
  • किसी भी अभ्यर्थी को इस योजना का लाभ एक बार ही मिलेगा
  • पहले से किसी भी सरकारी या राज्य सरकार द्वारा वित्त संपोषित संस्थान की सेवा में कार्यरत व नियोजित अभ्यर्थी को इसका लाभ नहीं मिलेगा।

Edited By: Vyas Chandra