गया [जेएनएन]। बिहार में बीते कुछ दिनों के दौरान लड़कियों के साथ दुष्‍कर्म के बाद उनकी हत्‍या की कई घटनाएं सामने आई हैं। इनमें पुलिस लापरवाही के आरोप लगते रहे हैं। लेकिन ऐसी ही एक घटना को पुलिस ने अपनी तत्‍परता से होते-होते बचा लिया। मामला बोधगया का है, जहां राहगीरों और पुलिस की सक्रियता के कारण एक युवती के साथ अनहोनी होते-होते बच गई।

कम-से-कम  इस मामले में पुलिस फरिश्ता बन कर सामने आई। इस मामले में पुलिस ने मनचलों की जमकर खबर ली। फिर, युवती को सुरक्षित उसके धर पहुंचा दिया। अगर पुलिस समय पर नहीं पहुंचती तो हाल में हैदराबाद में एक युवती की सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या की घटना की पुनरावृत्ति की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता था।

मनचलों से घिर गई घर से अकेली निकली युवती

मिली जानकारी के अनुसार बीती रात एक महिला अकेले पैदल जा रही थी। कुछ मनचलों ने उसका पीछा करना शुरू किया। एक बाइक से तो कई पैदल पीछे-पीछे चल रहे थे। इसी दौरान कार सवार कुछ लोगों ने  अनहोनी की आशंका भांप कर तुरंत एसएसपी को इसकी जानकारी दी। उसके बाद तत्काल थानाध्यक्ष मौके पर पहुंचे। एसएसपी खुद भी बोधगया में पेट्रोलिंग पर थे। वह भी मौके पर पहुंच गए।

पति से झगड़ा के बाद घर से निकल गई थी बाहर

पूछताछ में युवती ने बताया कि उसका पति से झगड़ा हुआ था। झगड़े के बाद वह मायके आ गई थी। लेकिन पति ने मायके आकर उसके साथ मारपीट की थी। इसके बाद वह गुस्सा हो घर से आधी रात को निकल गई थी। पूछताछ के बाद युवती को थानाध्यक्ष के संरक्षण में मगध विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र स्थित ससुराल पहुंचाया गया।

पुलिस तत्‍परता से होते-होते बची अनहोनी

गया के एसएसपी राजीव मिश्रा ने घटना की पुष्टि की। उन्‍होंने बताया कि पुलिस गश्ती की निगरानी करने के लिए वे शुक्रवार की शाम बोधगया गए थे। इसी क्रम में सूचना मिली कि एक युवती अकेली सड़क पर जा रही है। कहीं कोई अनहोनी न हो जाए, इसे देखते हुए पुलिस ने इसका संज्ञान लिया। एसएसपी ने बताया कि युवती को सुरक्षित ससुराल पहुंचा दिया गया।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस