पटना, जेएनएन। Bihar Assembly Election 2020: राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) अपने अलग अंदाज के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान वे ऐसे अंदाज भला क्‍यों न दिखाएं? कभी साइकिल चलाते तो मिठाई बनाते, कभी ईंट जोड़ते तो कभी बांसुरी या शंख बजाते दिखते रहे तेज प्रताप इस बार अपने विधानसभा क्षेत्र में खेते में ट्रैक्‍टर चलाते तथा सत्‍तु खाते देखे गए हैं। चुनाव प्रचार के दौरान तेज प्रताप यादव एक खेत में ट्रैक्टर चलाने लगे, फिर एक किसान के घर जा पहुंचे और वहां जाकर सत्तू भी खाया।

हमेशा चर्चा में रहते आए हैं निराले अंदाज

तेज प्रताप पहले भी ट्रैक्‍टर पर देखे जा चुके हैं। उनके निराले अंदाज की कई तस्‍वीरें वायरल हो चुकी हैं। एक बार वे साइकिल चलाते हुए पटना की सड़क पर गिर भी चुके हैं। उनकी पत्‍नी ऐश्‍वर्या को साइकिल की सवारी करानी तस्‍वीर भी वायरल हुई थी। उनके फिल्‍मों के शौक की भी चर्चा रही है।

ट्रैक्‍टर चलाने व सत्‍तु खाने की दी जानकारी

तेज प्रताप यादव अपने विधानसभा क्षेत्र में खूब सक्रिय हो गए हैं। भूख लगती है तो सत्‍तु खा लेते हैं। उन्‍होंने चुनावी जनसंपर्क के दौरान हसनपुर विधानसभा क्षेत्र के अहिलवार पंचायत में सत्‍तु खाते तस्‍वीर ट्वीट करते हुए ठेठ अंदाज में लिखा है कि पटना हो या हसनपुर, वे सत्‍तु तो खाते ही रहते हैं।  एक अन्‍य ट्वीट में तेज प्रताप हसनपुर में ट्रैक्टर चलाते देखे जा रहे हैं।

देखते-देखते ही जोत दी पांच कट्ठा जमीन

चुनाव प्रचार के लिए तेज प्रताप यादव बड़गांव पंचायत में एक खेत में ट्रैक्टर चला रहे चालक पर उनकी नजर पड़ी। इसके बाद वे खेत में पहुंच गए और ट्रैक्टर मांग कर चलाने लगे। देखते-देखते उन्‍होंने करीब पांच कठ्ठा खेत की जुताई कर दी। फिर, ट्रैक्टर से उतर कर पास के एक मचान पर बैठ गए।

कहा: हम समझते किसानों का दर्द

इसके बाद तेज प्रताप ने खुद को किसान बताते हुए कहा कि वे किसानों की समस्याओं को समझते हैं। क्षेत्र के खेतों में जलजमाव की समस्या है। यहां उनकी प्राथमिकता नहर योजना को जमीन पर उतारने की होगी। उन्‍होंने चौर से जल निकासी की व्यवस्था करने का भी आश्‍वासन दिया।

दलित बस्‍ती में बजाई थी बांसुरी, शंख भी बजाते हैं

ज्‍यादा दिन नहीं हुए, जब तेज प्रताप यादव पटना के मसौढ़ी स्थित एक दलित बस्‍ती में बासुरी बजाते दिखे थे। रविदास जयंती (Ravidas Jayanti) के अवसर पर उन्‍होंने मसौढ़ी के बरनी गांव में संत रविदास (Sant Ravidas) को श्रद्धांजलि दी तथा बांसुरी बजाई। भूख लगी तो एक गरीब महिला से मांग कर खिचड़ी भी खाई। तेज प्रताप पहले भी कई बार बांसुरी बजाते नजर आए हैं। कृष्‍ण भक्‍त तेज प्रताप भगवान कृष्‍ण का रूप धरकर भी पटना व वृंदावन में बांसुरी बजाते देखे गए हैं। तेज प्रताप भगवान शिव के भी भक्‍त हैं। वे शिव रूप धरते तथा शंख भी बजाते रहे हैं।

पटना में साइकिल से गिरे, ऐश्‍वर्या को भी घुमाया

तेज प्रताप यादव की पत्‍नी ऐश्‍वर्या को साइकिल की सवारी कराती तस्‍वीर भी वायरल हुई थी। हालांकि, अब उन्‍होंने ऐश्‍वर्या के खिलाफ तलाक का मुकदमा कर दिया है। तेज प्रताप 2018 में पटना में साइकिल चलाते हुए अपनी ही एस्‍कॉर्ट गाड़ी से रेस लगा बैठे। इस दौरान वे बीच सड़क पर गिर पड़े थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021