पटना [जेएनएन]। बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) को दिल्‍ली के तिहाड़ जेल से पटना लाकर बाढ़ कोर्ट में पेश किया गया। लेकिन इसके पहले उन्‍हें पटना एयरपोर्ट (Patna Airport) के वीआइपी गेट (VIP Gate) से बाहर निकालना चर्चा में है। पुलिस ने भले ही यह कदम सुरक्षा कारणों तथा एयरपोर्ट पर मौजूद अनंत समर्थकों व मीडिया को गच्‍चा देने के लिए उठाया हो, लेकिन इसकी आलोचना तो हो ही रही है। इस बीच अनंत सिंह की पत्‍नी नीलम देवी ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

जानिए क्‍या है मामला

विदित हो कि अनंत सिंह के पैतृक आवास से पुलिस ने एके 47 (AK 47) व हैंड ग्रेनेड (Hand Granade) आदि बरामद किए थे। इस मामले में फरार चल रहे अनंत सिंह को पुलिस तलाश रही थी। अनंत सिंह ने एक के बाद एक तीन वीडियो जारी कर कहा था कि वे पुलिस नहीं, कोर्ट के समक्ष सरेंडर करेंगे। उन्‍होंने पुलिस पर जनता दल यूनाइटेड (JDU) के साथ मिलकर खिलाफ साजिश करने का भी आरोप लगाया था।

इसके बाद उन्‍होंने शुक्रवार को दिल्‍ली के साकेत काेर्ट (Saket Court) में सरेंडर कर दिया। अनंत सिंह को लाने दिल्‍ली गईं एएसपी लिपि सिंह (Lipi Singh) जेडीयू एमपी के स्‍टीकर लगे वाहन से कोर्ट गईं। अनंत सिंह को रविवार की सुबह पटना एयरपोर्ट के वीआइपी गेट से निकालकर बाढ़ कोर्ट ले जाया गया, जहां से उन्‍हें बेऊर जेल भेज दिया गया।

शनिवार रात पटना लाने की थी रही चर्चा

शुक्रवार को दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर के बाद अनंत सिंह को दिल्‍ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में रखा गया। अगले दिन पेशी में कोर्ट ने उन्‍हें 48 घंटे के ट्रांजिट रिमांड पर पटना पुलिस के हवाले कर दिया। अनंत सिंह को शनिवार की रात इंडिगो (Indigo) की फ्लाइट से पटना लाने की चर्चा थी, लेकिन वे नहीं लाए गए।

एयरपोर्ट से चुपके-चुपके निकाले गए अनंत

अनंत सिंह को पटना पुलिस रविवार की सुबह छह बजे दिल्‍ली से लेकर चली। इसकी जानकारी मिलते ही उनके समर्थक एयरपोर्ट के आसपास जुट गए। मीडिया भी पहुंची। उन्‍हें लाए जाने को लेकर एयरपोर्ट पर भारी सुरक्षा व्‍यवस्‍था की गई थी। वे आए और वहां से निकाल कर ले जाए गए, लेकिन किसी को भनक तक नहीं लगी।

रविवार की सुबह मीडिया अनंत सिंह की प्रतीक्षा एयरपोर्ट के एग्जिट गेट पर कर रही थी, लेकिन पुलिस ने उन्‍हें वीआइपी गेट से चुपके-चुपके निकाल लिया। संभवत: यह पहला मामला है, जब किसी बड़े अपराध के आरोपित को वीआइपी गेट से एग्जिट दी गई हो।

बेऊर ले जाने के दौरान एक जैसे दो कैदी वैन

सुरक्षा के सवाल अपनी जगह भले ही सही हों, लेकिन अनंत सिंह को एयरपोर्ट के वीआइपी गेट से बाहर निकाले जाने की आलोचना हो रही है। एसपी अभियान ने मीडिया को बताया कि सुरक्षा को लेकर ऐसा किया गया था। इतना ही नहीं, अनंत सिंह को बाढ़ से बेऊर तक लाने के दौरान एक जैसे दो कैदी वाहनों को भी रखा गया, ताकि किसी को पता नहीं चले कि वे किस वाहन में हैं।

अनंत सिंह की पत्‍नी का पुलिस पर अारोप

इस बीच अनंत सिंह की पत्‍नी नीलम देवी ने पुलिस पर बड़ा अारोप लगाया है। उनके अनुसार पुलिस ने सुबह में उनके घर को घेरकर बाहर निकलने ही नहीं दिया। पुलिस ने बाहर से भी किसी को अंदर नहीं आने दिया। उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें जानकारी मिली थी कि अनंत सिंह की तबीयत खराब है और वे उनकी एक झलक देखना चाहतीं थीं।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस