पटना। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पटना के गांधी मैदान में 14 अप्रैल को चुनावी अभियान का शंखनाद करेंगे। पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहेंगे। पार्टी 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती पर गांधी मैदान में 'विराट कार्यकर्ता समागम' आयोजित करेगी, जिसमें बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता भाग लेंगे। शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मंगल पांडेय ने बताया कि करीब दो लाख कार्यकर्ता इस समागम में उपस्थित होंगे।

मंगल ने कहा कि समागम में भाग लेने के लिए प्रदेश के 62,228 बूथों से अब तक 1.35 लाख कार्यकर्ताओं का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। डेढ़ से दो लाख कार्यकर्ता भाग लेंगे। समागम में विधानसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत की जाएगी। कार्यकर्ताओं को चुनावी मुद्दों से अवगत कराया जाएगा। इन मुद्दों को लेकर वे गांव-गांव प्रचार अभियान चलाएंगे। समागम में वर्तमान सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया जाएगा। हमारा यह संकल्प होगा कि सूबे में सुशासन और कानून व्यवस्था वाली सरकार का गठन हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकास के जिन मामलों को लेकर बिहार एवं देश में जो महत्वपूर्ण काम किए हैं, समागम में उस पर भी चर्चा होगी।

अमित शाह और राजनाथ सिंह के अलावा पार्टी के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, राष्ट्रीय महामंत्री सौदान सिंह, बिहार से पार्टी के सभी केंद्रीय मंत्री, पार्टी के वर्तमान एवं पूर्व सांसद, विधायक एवं विधान पार्षद भी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम की तैयारी जोरों से चल रही है। पटना शहर को होर्डिंग, बैनर, पोस्टर एवं झंडे से सजाया जा रहा है।

21 से बैठकों का दौर : मंगल ने बताया कि 21 अप्रैल को जिला प्रभारियोंं, क्षेत्रीय प्रभारियों एवं प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक होगी। 24-26 अप्रैल तक जिलाध्यक्षों एवं 28-30 अप्रैल तक प्रखंड अध्यक्षों की बैठक होगी। इसी तरह 1-4 मई के बीच पंचायत स्तर के पार्टी प्रतिनिधियों की बैठक होगी।

बूढ़ा सुग्गा पोस नहीं मानता : प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस राजद के शासनकाल को उन्होंने हमेशा आतंकराज कहा, उसी राजद से उन्होंने हाथ मिला लिया है। अब राजद के विधायकों को सुशासन को पाठ पढ़ा रहे हैं। नीतीश कुमार खुद राजद नेताओं के बारे में कहते रहे हैं कि बूढ़ा सुग्गा पोस नहीं मानता। अब वह खुद इन बूढ़े सुग्गों (राजद विधायकों) को पाठ पढ़ा रहे हैं। जनता में भ्रम फैलाने के लिए नीतीश कुमार यह नाटक कर रहे हैं। जब से वह राजद के नजदीक आए हैं, तब से सूबे में कानून-व्यवस्था चरमरा गई है, विकास रुक गया है। संवाददाता सम्मेल में प्रदेश प्रवक्ता संजय सिंह एवं डॉ. योगेंद्र पासवान, मीडिया प्रभारी राकेश सिंह भी मौजूद थे।

निबंधन शुल्क की व्यवस्था जनसंघ के समय से चली आ रही : मंगल ने कहा कि कार्यकर्ताओं से निबंधन शुल्क के रूप में दस रुपये लिए जा रहे हैं। पार्टी हर सम्मेलन में ऐसा करती है। यह व्यवस्था जनसंघ के समय से चली आ रही है।

Posted By: pradeep Kumar Tiwari