पटना, जेएनएन। जदयू ने अपने पूर्व प्रवक्‍ता अजय आलोक से खुद को किनारा कर लिया है। दो दिन पहले वर्तमान प्रवक्‍ता राजीव रंजन ने कहा कि अजय आलोक को पार्टी काफी पहले ही पदमुक्‍त कर चुकी है। ऐसे में उनके किसी भी बयान को पार्टी का बयान नहीं माना जाए। इस पर अजय आलोक ने ट्वीट कर कहा कि तो पार्टी हमें निकाल दे। पार्टी का भले ही इस पर कोई बयान नहीं आया, ले‍किन अजय आलोक के समर्थकों ने दो टूक कहा कि तो दे दीजिए इस्‍तीफा।  

दरअसल, अपने पूर्व प्रवक्‍ता अजय आलाेक को लेकर जदयू असहज महसूस कर रहा है। कभी-कभी पार्टी लाइन के इतर ट्वीट किए जाने से पार्टी को जवाब देते नहीं बनती है। इसे लेकर दो दिन पहले जदयू के वर्तमान प्रवक्‍ता राजीव रंजन ने साफ कहा था कि अजय आलोक पार्टी में प्रवक्‍ता के पद पर नहीं हैं। उन्‍हें पार्टी कब का पदमुक्‍त कर चुकी है। ऐसे में अजय आलोक का कोई भी बयान उनका निजी विचार माना जाए।  

इस पर अजय अालोक ने ट्वीट कर पलटवार किया। कहा- 'पार्टी के प्रवक्ता पद से इस्तीफा दिया था। ममता बनर्जी पर मिनी पाकिस्तान बनाने के बयान पर, लेकिन पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया था। अब अगर पार्टी कहती है तो पार्टी से भी इस्तीफ़ा दे दूंगा और मेरे से इतनी असहजता हो गयी है तो मुझे निकाल दीजिए। मेरा महिमामंडन पार्टी का नुकसान है। 

अजय आलोक के इस ट्वीट का उनके समर्थक लगातार रिट्वीट कर रहे हैं। एक यूजर विनोद ने लिखा- अगर विचार नहीं मिलते तो इस्तीफा दे दो...' वहीं एक यूजर रमेश कुमार सतपाठी ने लिखा- 'छोड़ दीजिए जदयू , वो पार्टी आपके लायक नहीं है।' इसी तरह, किसी ने कहा कि भाजपा ज्‍वाइन कर लीजिए। 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप