पटना [जेएनएन]। तेज प्रताप यादव की ओर से ऐश्वर्या से तलाक के लिए दिए गए आवेदन पर 31 जनवरी को सुनवाई होगी। मंगलवार को पटना के फैमिली कोर्ट में होनेवाली सुनवाई टल गयी थी। दरअसल, मामले की सुनवाई कर रहे फैमिली कोर्ट के जज का तबादला हो गया और नए जज ने सुनवाई के वक्‍त तक योगदान नहीं दिया था। बाद में नए जज ने पदभार ग्रहण किया और सुनवाई की अगली तारीख 31 जनवरी निर्धारित की।
जानकारी के अनुसार तेज प्रताप यादव व ऐश्वर्या राय के तलाक मामले की सुनवाई कर रहे पटना के फैमिली कोर्ट के जज उमाशंकर द्विवेदी का खगड़िया तबादला हो गया है। उन्हें डिस्ट्रिक्ट जज बनाया गया है। जबकि, गया के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्ण बिहारी पांडेय को पटना के फैमिली कोर्ट में प्रधान न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। नए जज ने अपराह्न काल में पदभार ग्रहण कर लिया।
बता दें कि बीते 29 नवंबर को इस मामले की सुनवाई करते हुए तत्कालीन जज उमाशंकर द्विवेदी ने तेज प्रताप की पत्‍नी ऐश्वर्या राय को नोटिस जारी कर उन्‍हें 8 जनवरी 2019 को अपना पक्ष रखने के लिए कहा था। 
उधर तेज प्रताप यादव तलाक मामले में अपने फैसले पर पूरी तरह अडिग है। वे बार-बार कह रहे हैं कि मैं किसी भी कीमत पर अपनी पत्नी एेश्वर्या से तलाक का फैसला नहीं बदल सकता। मैं तलाक लेकर ही रहूंगा और मेरे इस फैसले को अब भगवान भी नहीं बदल सकते। उन्होंने कहा कि तलाक की अर्जी वापस नहीं लेंगे।

गौरतलब है कि पिछले दिनों अचानक खबर उड़ी कि तेज प्रताप ने तलाक का फैसला बदल दिया है और वो अपनी अर्जी वापस लेंगे। मीडिया में यह बात आते ही तेज प्रताप ने इस पर कड़ा विरोध जताया और कहा कि वे अपने फैसले पर पूरी तरह अडिग है। उन्होंने साफ कहा कि कुछ लोगों की ओर से इसे लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है। मंगलवार को तेज प्रताप निर्धारित समय पर कोर्ट में हाजिर हुए, लेकिन एेश्वर्या नहीं पहुंचीं।
मालूम हो कि राजद सुप्रीमो के बड़े बेटे तेज प्रताप ने ऐश्वर्या राय से शादी के पांच महीने बाद ही तलाक को लेकर दो नवंबर को पटना के कोर्ट में अर्जी दायर की थी। इसे लेकर पारिवारिक स्तर पर तेज प्रताप को समझाने का काफी प्रयास किया गया, लेकिन अब तक यह प्रयास बेकार साबित हुआ है। अब सबों की नजर इस पर टिकी हुई है कि ऐश्वर्या कोर्ट में क्या कहती हैं।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप