पटना, जेएनएन। राजधानी के बख्तियारपुर में मंगलवार की देर रात पान दुकानदार को बदमाशों ने सिर में ईंट मार दी। वारदात को अंजाम देकर अपराधी फरार हो गए। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने घायल को इलाज के लिए पीएमसीएच में भर्ती कराया, जहां घायल ने दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान मुन्ना वर्णवाल के रूप में हुई है। सूचना पर बख्तियारपुर थाने की पुलिस मामले की छानबीन करने पहुंच गई है। मौत के बाद मृतक के स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

विरोध में व्यवसायियों ने दुकानें बंद कीं।

पान दुकानदार की मौत की खबर सुनते ही लोग आक्रोशित हो गए। इसके विरोध में व्यवसायियों ने बुधवार की सुबह आक्रोश मार्च निकाला। जिसके बाद सभी ने अपनी दुकान का शटर गिरा दिया। आक्रोशित व्यवसायियों का कहना है कि अपराधियों में पुलिस का खौफ खत्म हो गया है। रोज बड़ी-बड़ी वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है।

 

आपसी रंजिश में की हत्या

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुन्ना वर्णवाल के किसी से काफी समय पहले से विवाद चल रहा था। बताया जाता है कि उन्हें धमकी भी दी गई थी। मंगलवार की रात मौका पाकर बदमाशों ने उनके सिर में ईंट से वारकर दिया। जिसके बाद स्थानीय लोग और स्वजनों की मदद से उन्हें इलाज के लिए पीएमसीएच (पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल) में भर्ती कराया गया। जहां बुधवार की सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया।

स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल

घटना की जानकारी पर व्यवसायियों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं। मामले में खबर लिखे जाने तक किसी के खिलाफ एफआइआर नहीं दर्ज की गई है। मुन्ना वर्णवाल की बख्तियारपुर में ही पान की दुकान थी। उनकी मौत के बाद स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिवार के सदस्य कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। घटना को लेकर तरह-तरह की बात सामने आ रही है। पुलिस का कहना है कि मामले की शिकायत के बाद छानबीन की जाएगी।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस