पटना । नालंदा खुला विश्वविद्यालय (एनओयू) में इंटर, स्नातक, स्नातकोत्तर, सर्टिफिकेट तथा डिप्लोमा कोर्स में नामांकन प्रक्रिया 30 सितंबर से प्रारंभ होगी। यूजीसी ने पूर्व से संचालित सभी कोर्सो की मान्यता बहाल करने के साथ-साथ नौ नए कोर्सो में पढ़ाई प्रारंभ करने की अनुमति प्रदान कर दी है। कुलसचिव डॉ. एसपी सिन्हा ने बताया कि नामांकन की तैयारी अंतिम चरण में है। प्रॉस्पेक्टस आदि अपडेट हो चुका है। नामांकन के लिए आवेदन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से स्वीकार किए जाएंगे। नामांकन प्रक्रिया की पूरी जानकारी जल्द ही वेबसाइट (www.ठ्ठड्डद्यड्डठ्ठस्त्रड्डश्रश्चद्गठ्ठह्वठ्ठद्ब1द्गह्मह्यद्बह्ल4.ष्श्रद्व) पर अपलोड कर दी जाएगी।

इन विषयों में शुरू होगी पढ़ाई :

योग में बीए और बीएससी, उर्दू ऑनर्स, डिजास्टर मैनेजमेंट में एमए और एमएससी, मास्टर इन सोशल वर्क, पीजी डिप्लोमा इन ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट तथा पत्रकारिता में इंटर की पढ़ाई प्रारंभ होगी। योग में बीए करने वाले को सबसिडियरी में आ‌र्ट्स तथा बीएससी के लिए साइंस के विषय रखने होंगे।

मुख्यालय में खोले जाएंगे 100 काउंटर

कुलसचिव ने बताया कि मुख्यालय के साथ-साथ सभी स्टडी सेंटर में नामांकन के लिए काउंटर संचालित किए जाएंगे। बिस्कोमान भवन, गांधी मैदान स्थित मुख्यालय में नामांकन के लिए 100 काउंटर बनाए जाएंगे। नामांकन प्रक्रिया पूरे अक्टूबर संचालित की जाएगी। एनओयू के स्टडी सेंटर सभी जिलों में है। विभिन्न जिलों के 58 अंगीभूत कॉलेज तथा 148 प्लस टू विद्यालयों में स्टडी सेंटर कार्यरत हैं। अभ्यर्थी नामांकन और उससे संबंधित जानकारी सेंटर से प्राप्त कर सकते हैं।

125 से अधिक कोर्सो में ले सकते हैं नामांकन

एनओयू में 125 से अधिक कोर्सो की पढ़ाई होती है। इंटर आ‌र्ट्स में 13, साइंस में चार तथा कॉमर्स में आठ, स्नातक आ‌र्ट्स में 18, साइंस में आठ और कॉमर्स में चार, पीजी आ‌र्ट्स में 18, साइंस में आठ तथा कॉमर्स में चार विषयों में नामांकन ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त 35 सर्टिफिकेट कोर्स तथा सात पीजी डिप्लोमा कोर्स भी संचालित किए जा रहे हैं।

फीस में पांच फीसद की होगी बढ़ोत्तरी

एनओयू इस साल नामांकन शुल्क में पांच से सात फीसद की बढ़ोत्तरी करेगा। कुलसचिव के अनुसार फीस में बढ़ोत्तरी के बाद भी अन्य खुला विश्वविद्यालयों की तुलना में कम राशि ही ली जाएगी। छात्राओं को नामांकन लेने पर 25 फीसद शुल्क माफ कर दिया जाएगा। इसके साथ विभिन्न जेलों में बंद कैदी से किसी तरह का शुल्क वसूल नहीं किया जाएगा।

नवंबर से प्रारंभ होगी काउंसलिंग

इंटर, स्नातक, स्नातकोत्तर सहित सभी कोर्सो के लिए काउंसलिंग की कक्षाएं नवंबर से प्रारंभ हो जाएंगी। कुलसचिव के अनुसार यूजीसी से मान्यता देर से मिलने के कारण इस साल नामांकन प्रकिया तीन माह देर से प्रारंभ की गई है। लेकिन, सभी परीक्षाएं निर्धारित समय पर ही होंगी। इसके लिए नवंबर, दिसंबर और जनवरी में किसी स्टॉफ को छुट्टी नहीं मिलेगी।

Posted By: Jagran