पटना । राजधानी में नालों पर अतिक्रमण से जल निकासी में आ रही बाधा को हटाने के लिए 13 नवंबर से शुरू हो रहे अभियान को लेकर प्रशासन सख्त है। डीएम कुमार रवि ने खास बातचीत में स्पष्ट कहा है कि नालों पर अतिक्रमण कर मकान बनाने वाले 13 तारीख से पहले खुद अपने निर्माण को ध्वस्त कर लें। मकान या इसका कोई भी हिस्सा नाले पर बना हुआ है तो हटा लें। प्रशासन ने अतिक्रमित भूखंड पर लाल निशान लगा दिया है। अगर लाल निशान वाले हिस्सों को अतिक्रमणकारियों ने खुद नहीं हटाया, तो उनके मकान का पूरा नक्शा खंगाला जाएगा। बिना नक्शा पास कराए मकान बना होगा तो पूरा मकान ध्वस्त किया जाएगा। अगर नाले पर निर्माण का नक्शा पास किया हुआ पाया गया, तो इसे पास करने वाले अधिकारी भी नपेंगे। डीएम ने कहा कि दस नालों पर अभियान के तहत अतिक्रमण हटाया जाएगा। बादशाही नाला, सैदपुर नाला, योगीपुर नाला, बाईपास नाला, मंदिरी नाला, सरपेंटाइन नाला, आनंदपुरी नाला, पटेल नगर नाला, आशियाना नाला और रूपसपुर इलाके के नाले से अतिक्रमण हटाने का अभियान चलाया जाना है।

डीएम ने कहा कि अतिक्रमणकारियों को नालों से निर्माण हटाने के लिए नोटिस दिया जा रहा है। माइक से घोषणा भी की जा रही है। अगर 13 से पूर्व खुद अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो प्रशासन के स्तर पर निर्माण ध्वस्त किया जाएगा और इसके लिए भारी शुल्क भी वसूला जाएगा। अतिक्रमणकारियों पर एफआईआर और अन्य कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

- - - - - - - - - - - -

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप