style="text-align: justify;"> पटना [जेएनएन]। स्टेशन गोलंबर के पास देर रात एक ऑटो से युवक के अपहरण की सूचना पर घेराबंदी करने पहुंचे दारोगा को कुचलने का प्रयास किया। हालांकि कोतवाली पुलिस ने ऑटो को सचिवालय गेट के पास तक पीछाकर रोक लिया और उसमें सवार तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि तीनों ऑटो में यात्री बनकर बैठे रहते थे। ट्रेन से आने वाले यात्रियों को ऑटो में बैठाकर चालक की मिलीभगत से सुनसान जगह पर लूटपाट करते थे।
शुक्रवार की रात करीब दो बजे पटना जंक्शन गोलंबर के पास एक ऑटो में पीछे की सीट पर एक युवक लेटा था। चेहरा रूमाल से ढका था। पीछे एक अन्य युवक उसके पास और एक चालक की सीट पर बैठा था। स्टेशन के पास से गुजर रहे दो यात्रियों को मामला संदिग्ध लगा। उसने कोतवाली पुलिस को सूचना दी।
कोतवाली की पेट्रोलिंग टीम मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देख ऑटो में सवार चालक सतर्क हो गया और ऑटो लेकर भागने का प्रयास किया। पेट्रोलिंग टीम में शामिल एक दारोगा ऑटो को सामने से रुकने का इशारा किया तो चालक दारोगा को कुचलने का प्रयास किया। पुलिस ने ऑटो के पीछे सीट पर लेटे युवक पर नजर पड़ी। पुलिस को लगा कि मामला अपहरण का है।
कोतवाली पुलिस ने वायरलेस पर ऑटो में युवक के अपहरण की सूचना फ्लैश कराकर घेराबंदी शुरू कर दी। करीब आधा घंटे बाद पुलिस ने ऑटो को सचिवालय गेट के सामने रोक लिया। उसमें सवार तीनों युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू किया। पकड़े गए दो लोगों का नाम एक ही राजा बाबू और तीसरा राहुल कुमार है। तीनों फुलवारीशरीफ के रहने वाले है।
चालक से मिलीभगत कर यात्रियों से करते है लूटपाट
तीनों से पूछताछ के बात पता चला कि पीछे सीट पर लेटा राजाबाबू और राहुल यात्री बनकर ऑटो में बैठे रहते है। जबकि दूसरा राजा बाबू चालक के पास। आधी रात को दूसरे जिले से आने वाले यात्रियों को ऑटो में बैठाते थे। सुनसान जगह देख तीनों मिलकर यात्री से लूटपाट करते थे और फरार हो जाते थे।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस